Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

पटना हाईकोर्ट ने राजद को किया झटका, नई सरकार के गठन को चुनौती देने वाली याचिकाएं की खारिज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पटना हाईकोर्ट ने राजद को किया झटका, नई सरकार के गठन को चुनौती देने वाली याचिकाएं की खारिज

पटना।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के ग्रह इस समय कुछ ठीक नहीं चल रहे हैं। जहां एक ओर लालू परिवार बेनामी संपत्ति, भ्रष्टाचार के मामलों में फंसा हुआ है, वहीं अब पटना हाईकोर्ट से भी राजद को करारा झटका लगा है। दरअसल, राजद ने बिहार में जदयू और बीजेपी के साथ मिलकर बनी नई सरकार के गठन को चुनौती देते हुए पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करने से इनकार करते हुए इसे खारिज कर दिया। इतना ही इसी तरह की दायर की गई एक अन्य याचिका को भी कोर्ट ने खारिज कर दिया है।

ये भी पढ़ें— अमित शाह बोले- तीन साल में भ्रष्टाचार का एक आरोप भी नहीं, पहले प्रतिदिन उजागर होता था नया घोटाला

हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस एके उपाध्याय की खंडपीठ ने सभी पक्षों को सुनने के बाद ये याचिकाएं खारिज कर दीं। कोर्ट ने कहा कि विधानसभा में शक्ति परीक्षण के बाद अदालत के हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है। इनमें से एक याचिका राजद विधायक सरोज यादव और चंदन वर्मा ने दायर की थी, जबकि दूसरी याचिका समाजवादी पार्टी के सदस्य जितेंद्र कुमार ने दायर की थी। कोर्ट ने शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी थी।


ये भी पढ़ें— नीतीश के नए मंत्रिमंडल का विस्तार आज, 35 मंत्री ले सकते हैं शपथ

इन याचिकाओं में कहा गया था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने नई सरकार के गठन के समय नियमों की अनदेखी की है। याचिकाएं खारिज होने के बाद राजद ने कहा कि वे नीतीश सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे। लालू यादव ने कहा कि उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के वकीलों से भी इस बारे में बात की है।

ये भी पढ़ें— नीतीश तो भस्मासुर निकला...बोला था हम बूढ़े हो गए, अब बच्चा लोग आगे संभालेंगे - लालू यादव

Todays Beets: