Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

राजस्थान में भाजपा को लगा बड़ा झटका, घनश्याम तिवाड़ी ने छोड़ा पार्टी का साथ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान में भाजपा को लगा बड़ा झटका, घनश्याम तिवाड़ी ने छोड़ा पार्टी का साथ

जयपुर। राजस्थान में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है। काफी समय से नाराज चल रहे वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बताया जा रहा है कि घनश्याम तिवाड़ी के पार्टी से अलग होने से राजस्थान में भाजपा को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि कुछ समय पहले हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी को करारी मात दी थी।

गौरतलब है कि घनश्याम तिवाड़ी के बेटे अखिलेश तिवाड़ी ने पहले ही ‘भारत वाहिनी’ के नाम से पार्टी बनाई है और उम्मीद की जा रही है कि आने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे। अखिलेश तिवाड़ी ने बताया कि पार्टी का लक्ष्य संस्थापक और अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी के नेतृत्व में विधानसभा की सभी 200 सीटों पर चुनाव लड़ने का है।

आपको बता दें कि पार्टी अपने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ जयपुर में 3 जुलाई को राज्य में पहली बैठक का आयोजन करने जा रही है जिसमें करीब 2000 कार्यकर्ताओं के हिस्सा लेने की उम्मीद है। अखिलेश तिवाड़ी ने बताया कि हर विधानसभा सीट से 10 प्रतिनिधियों से आवेदन मांगे गए हैं। प्रतिनिधि इस समय घनश्याम तिवाड़ी द्वारा गठित दीन दयाल वाहिनी संगठन के लिए काम कर रहे हैं। 


ये भी पढ़ें -बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, ‘सुशासन बाबू’ के दावों की खुली पोल

गौर करने वाली बात है कि चुनाव आयोग ने भी भारत वाहिनी पार्टी को मंजूरी दे दी है। इसके बाद अब उम्मीदवार इस पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। बता दें कि घनश्याम तिवाड़ी भाजपा में कई अहम पदों पर रह चुके हैं। पहली बार वे सीकर से विधायक बने थे। फिलहाल वे सांगानेर से विधायक हैं।

Todays Beets: