Monday, October 22, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

रालोसपा ने भाजपा को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- हम भाजपा के गुलाम और पिछलग्गू नहीं हैं 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रालोसपा ने भाजपा को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- हम भाजपा के गुलाम और पिछलग्गू नहीं हैं 

पटना। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। बिहार में एनडीए के सहयोगी राष्ट्रीय लोकशक्ति पार्टी (रालोसपा) ने सीटों को लेकर बड़ा बयान दिया है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने कहा कि ‘‘वे न तो भाजपा के गुलाम हैं और न ही उसके पिछलग्गू’’। ऐसे में सीटों का बंटवारा वोटों के आधार पर होना चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है तो एक बार फिर से विचार किया जाएगा कि एनडीए के साथ रहना है या नहीं।

गौरतलब है कि रालोसपा के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि नीतीश कुमार की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि कानून व्यवस्था के नाम पर वे पूरी तरह से विफल रहे हैं। ऐसे में अब लोग नए विकल्प की तलाश में हैं। रालोसपा के नेता ने कहा कि नीतीश कुमार सठिया गए हैं, उनके इस कार्यकाल में विकास का काम पूरी तरह से ठप हो गया है और उनके पास तो मात्र डेढ़ फीसदी वोट रह गया है। ऐसे में जेडीयू को रालोसपा से भी कम सीटें मिलनी चाहिए। 


ये भी पढ़ें - मुंगेर जिले के कुएं में मिला एके 47 का जखीरा, प्रशासन में मचा हड़कंप

यहां बता दें कि जहानाबाद में 30 सितंबर को होने वाली रैली का जायजा लेने पहुंचे नागमणि ने कहा कि उनकी पार्टी की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ रही है यही वजह है कि दोनों की राजनीतिक पार्टियां अपने साथ जोड़ने में जुटी हुई है। बड़ी बात है कि नागमणि के द्वारा भाजपा को लेकर दिए गए बयान पर अभी भाजपा की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है। साथ ही यह भी देखना दिलचस्प होगा कि एनडीए सीटों का बंटवारा किस तरह से करती है।

Todays Beets: