Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

रालोसपा ने भाजपा को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- हम भाजपा के गुलाम और पिछलग्गू नहीं हैं 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रालोसपा ने भाजपा को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- हम भाजपा के गुलाम और पिछलग्गू नहीं हैं 

पटना। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। बिहार में एनडीए के सहयोगी राष्ट्रीय लोकशक्ति पार्टी (रालोसपा) ने सीटों को लेकर बड़ा बयान दिया है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने कहा कि ‘‘वे न तो भाजपा के गुलाम हैं और न ही उसके पिछलग्गू’’। ऐसे में सीटों का बंटवारा वोटों के आधार पर होना चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है तो एक बार फिर से विचार किया जाएगा कि एनडीए के साथ रहना है या नहीं।

गौरतलब है कि रालोसपा के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि नीतीश कुमार की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि कानून व्यवस्था के नाम पर वे पूरी तरह से विफल रहे हैं। ऐसे में अब लोग नए विकल्प की तलाश में हैं। रालोसपा के नेता ने कहा कि नीतीश कुमार सठिया गए हैं, उनके इस कार्यकाल में विकास का काम पूरी तरह से ठप हो गया है और उनके पास तो मात्र डेढ़ फीसदी वोट रह गया है। ऐसे में जेडीयू को रालोसपा से भी कम सीटें मिलनी चाहिए। 


ये भी पढ़ें - मुंगेर जिले के कुएं में मिला एके 47 का जखीरा, प्रशासन में मचा हड़कंप

यहां बता दें कि जहानाबाद में 30 सितंबर को होने वाली रैली का जायजा लेने पहुंचे नागमणि ने कहा कि उनकी पार्टी की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ रही है यही वजह है कि दोनों की राजनीतिक पार्टियां अपने साथ जोड़ने में जुटी हुई है। बड़ी बात है कि नागमणि के द्वारा भाजपा को लेकर दिए गए बयान पर अभी भाजपा की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है। साथ ही यह भी देखना दिलचस्प होगा कि एनडीए सीटों का बंटवारा किस तरह से करती है।

Todays Beets: