Thursday, May 23, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

हिरासत में अपूर्वा का खुलासा, पति रोहित शेखर की हत्या से लेकर सभी सबूत मिलाने का 'खेल' महज 90 मिनट चला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिरासत में अपूर्वा का खुलासा, पति रोहित शेखर की हत्या से लेकर सभी सबूत मिलाने का

नई दिल्ली । कांग्रेस के दिग्गज नेता और चार बार मुख्यमंत्री रहे स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या में आखिरकार पुलिस ने उसकी पत्नी अपूर्वा को गिरफ्तार कर लिया है । बुधवार को पुलिस ने अपूर्वा को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे 2 दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है । इस सब के बीच फिर से कुछ नई सूचनाएं सामने आईं हैं , जिसमें कहा जा रहा है अपूर्वा ने महज 90 मिनट में हत्याकांड को अंजाम देने के बाद सभी सबूतों को मिटा दिया था । अपूर्वा ने खुद पुलिस पुछताछ में कबूल किया है कि उसके रोहित के कमरे में दाखिल होने के साथ ही उनके बीच रोहित की महिला मित्र के साथ शराब पीने को लेकर झगड़ा हो गया । इस दौरान दोनों के बीच हाथापाई हुई और गुस्से में उसके हाथों रोहित मारा गया । उसने रोहित का गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी, इसके बाद उसने सभी सबूतों को नष्ट किया । इस पूरे घटनाक्रम में महज एक से डेढ़ घंटे का समय लगा था।

बता दें कि गत 15-16 अप्रैल की रात को रोहित शेखर तिवारी और पेशे से सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता अपूर्वा के बीच विवाद हुआ । विवाद का कारण जहां रोहित का अपनी महिला मित्र के साथ शराब पीना था , वहीं रोहित भी अपूर्वा पर अपने पूर्व ब्वायफ्रेंड से साथ अभी भी बात करने को लेकर आरोप लगा रहा था । इतना ही नहीं दोनों के बीच संबंध शादी के बाद से ही ठीक नहीं थे और दोनों तलाक लेने पर विचार कर रहे थे। इतना ही नहीं पुलिस का कहना है कि दोनों के बीच विवाद का कारण संपत्ति विवाद भी था ।

रोहित शेखर हत्याकांड में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार , पूछताछ में गला दबाकर हत्या की बात कबूली

बहरहाल , अपूर्वा ने पुलिस को हत्याकांड का जो सच बताया है उसके अनुसार , रात में जब वह रोहित कमरे में गई तो दोनों के बीच झगड़ा हो गया । दोनों बेडरूम में ही झगड़ रहे थे । रोहित अपनी महिला मित्र के साथ शराब पीकर आया था इसलिए नशे में था । उसने बहुत शराब पी रखी थी, जिसके चलते वह अपने होश में नहीं था । बातों से बढ़ते हुए झगड़े ने हिंसा का रूप ले लिया । दोनों एक दूसरे पर हाथ चलाने लगे । अब क्योंकि रोहित शेखर नशे में था इसलिए वह इ दौरान कमजोर पड़ गया और गुस्से में अपूर्वा इस पर हावी हो गई । दोनों ही एक दूसरे की जान लेने पर ऊतारू थे । ऐसे में अपूर्वा का हाथ रोहित के गले तक पहुंच गया और उसने दोनों हाथों से उसका गला दबाना शुरू कर दिया । कुछ देर बाद रोहित के प्राण उखड़ चुके थे ।


पति रोहित शेखर को महिला मित्र के साथ शराब पीते देख गुस्से में थी अपूर्वा , फिर गला दबा कर दिया पति को 'शांत'

हालांकि रोहित की मां उज्जवला अपने बेटे की शादी की बातों को लेकर बताती हैं कि अपने हक की लड़ाई जीतने के बाद जब वह रोहित की शादी के लिए लड़की तलाश कर रही थीं, उस दौरान रोहित ने 2017 में एक मेट्रोमोनियल साइट पर अपूर्वा का प्रोफाइल देखा था। रोहित ने ही अपूर्वा के बारे में अपनी मां को बताया था, जिसके बाद दोनों ने मिलने का फैसला लिया । पहली बार दोनों की मुलाकात 2017 में ही लखनऊ में हुई थी, जहां पहली नजर में ही रोहित को अपूर्वा अच्छी लगी थी । इसके बाद दोनों शादी के लिए तैयार हो गए और शादी से पहले दोनों कुछ समय तक लिव इन में रहे ।

 

Todays Beets: