Sunday, May 27, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

बिहार की राजनीति में उथल-पुथल जारी, जदयू के इस वरिष्ठ नेता ने छोड़ी पार्टी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार की राजनीति में उथल-पुथल जारी, जदयू के इस वरिष्ठ नेता ने छोड़ी पार्टी

पटना। बिहार की राजनीति में भी इन दिनों काफी उथल-पुथल मचा हुआ है। जनता दल युनाईटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता और बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने अपनी ही सरकार पर आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ दी है। चौधरी ने बताया कि राज्य में दलितों पर हो रहे अत्याचार और उत्पीड़न की वजह से उन्होंने यह फैसला लिया है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि वे अब लालू प्रसाद की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के साथ जुड़ सकते हैं। 

गौरतलब है कि उदय नारायण चौधरी ने बताया कि वे सांप्रदायिक पार्टियों से बाहर निकल गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में बहुत से नेता पार्टी छोड़ रहे हैं ऐसे में राजनीतिक दलों में हड़कंप मचा हुआ है। उदय नारायण चौधरी ने बताया कि राज्य में दलितों का बहुत ज्यादा उत्पीड़न हो रहा है।  पार्टी छोड़ने के बाद उदय नारायण चैधरी ने बताया कि वे राजद के साथ जा सकते हैं। अब वह सांप्रदायिक ताकतों के चंगुल से बाहर निकल चुके हैं और जेडीयू - भाजपा में नहीं जाएंगे। जो पार्टी बचती हैं, उन्हीं में से किसी में जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि बहुत लोग पार्टी छोड़ रहे हैं तो ऐसे में भगदड़ मचना तय है। वहीं इस मामले में जेडीयू का कहना है कि उनके जाने से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ता।

ये भी पढ़ें - शोपियां में पत्थरबाजों ने स्कूल बस पर किया पथराव, 2 बच्चे घायल, विधायक के घर पर फेंका पेट्रोल बम


यहां गौर करने वाली बात है कि उदय नारायण चौधरी पिछले कुछ समय से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज चल रहे थे उन्होंने दलितों पर बढ़ते अत्याचार के समर्थन में एक मार्च भी निकाला था। यहां की कानून व्यवस्था भी बहुत खराब हो चुकी है। उन्होंने इस मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी बातचीत की लेकिन कोई उपाय नहीं निकल सका जिससे वह दुखी हैं।  

 

Todays Beets: