Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

लोगों को सुरक्षित सफर दे नहीं पा रहे, बुलेट ट्रेन लाने की बात करते हैं- शिवसेना

अंग्वाल संवाददाता
लोगों को सुरक्षित सफर दे नहीं पा रहे, बुलेट ट्रेन लाने की बात करते हैं- शिवसेना

मुंबई । परेल स्टेशन के निकट फुटओवर ब्रिज पर भगदड़ में 25 लोगों की मौत हो गई है। इस मामले में रेलव की ओर से भारी लापरवाही उजागर हुई है, जिस तरह से कई बार इस फुटओवरब्रिज पर हादसे की आशंका लोग जताते रहे हैं, उसे देखते हुए एनडीए की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। शिवसेना विधायक अजय चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार  देश के रेलवे स्टेशनों पर लोगों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवाने में तो विफल हो रहीहै और बात करती है भारत में बुलेट ट्रेन लाने की। इससे बेहतर तो यह होगा कि रेलवे में व्यापक सुधार करते हुए लोगों को सुरक्षित रेल के सफर का भरोसा दिलाएं। 

बता दें कि बारिश के चलते फुटओवर ब्रिज पर लोगों की भीड़ बढ़ने के दौरान एकाएक एक व्यक्ति का पैर फिसल गया। इस दौरान फुटओवर ब्रिज की रैलिंग टूट गई, जिसके बाद कुछ लोग नीचे गिर गए। इसके बाद ब्रिज पर भगदड़ मच गई, जिसमें अभी तक 25 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 40 लोग घायल बताए जा रहे हैं। इस पूरे मामले पर एक बार फिर शिवसेना ने राज्य समेत केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। 


शिवसेना विधायक अजय चौधरी ने कहा कि आखिर भाजपा कैसे देश में बुलेट ट्रेन के सपने देख सकती है, जबकि लोगों को स्टेशनों पर बुनियादी सुविधाएं भी मुहैया नहीं हो रही है। लोग रेल के सफर को असुरिक्षत मान रहे हैं। पिछले कुछ सालों में रेल हादसों में भारी इजाफा हुआ है। ऐसे में मोदी सरकार के लिए बेहतर होगा कि वह बुलेट ट्रेन का सपना छोड़ लोगों को सुरक्षित सफर का भरोसा दिलाएं। 

Todays Beets: