Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

भोपाल। राज्यों में होने वाले चुनावों के मद्देनजर टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं का दूसरी पार्टियों के दामन को थामने का सिलसिला जारी है। टिकट न मिलने से नाराज मध्यदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी ने समाजवादी पार्टी के साइकिल पर सवार हो गए और अब वे अपनी मनचाही सीट से नामांकन दाखिल किया है। बेटे के समाजवादी में शामिल होने के बाद उसके लिए प्रचार करने के सवाल पर पूछने पर उन्होंने कहा कि पिता होने के नाते जितना हो पाएगा करूंगा। 

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे भी राजनगर से टिकट न मिलने के बाद समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे। समाजवादी पार्टी में शामिल होते ही उनके बेटे को उनकी मनचाही सीट से टिकट भी दे दिया गया और उन्होंने अपना नामांकन भी कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महाराष्ट्र में भी उठी शहरों के नाम बदलने की मांग, शिवसेना नेता ने बताए इन 2 जगहों के नाम


यहां बता दें कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में करीब 39 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। उसमें कई बड़े नेताओं के नाम काट दिए गए हैं। नितिन चतुर्वेदी के सपा में शामिल होने पर सत्यव्रत चतुर्वेदी ने अपनी ही पार्टी पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस पिछले 15 सालों से गलती कर रही है।  

गौर करने वाली बात है कि सत्यव्रत चतुर्वेदी मध्यप्रदेश के बड़े संभाग के ब्राह्मण का नेतृत्व करते हैं। वे मध्यप्रदेश में विधायक, मंत्री और सांसद रह चुके हैं। ऐसे में उनके अपने बेटे के समर्थन में उतर आना कांग्रेस के प्रचार अभियान को नुकसान पहुंचा सकता है।  

Todays Beets: