Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

भोपाल। राज्यों में होने वाले चुनावों के मद्देनजर टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं का दूसरी पार्टियों के दामन को थामने का सिलसिला जारी है। टिकट न मिलने से नाराज मध्यदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी ने समाजवादी पार्टी के साइकिल पर सवार हो गए और अब वे अपनी मनचाही सीट से नामांकन दाखिल किया है। बेटे के समाजवादी में शामिल होने के बाद उसके लिए प्रचार करने के सवाल पर पूछने पर उन्होंने कहा कि पिता होने के नाते जितना हो पाएगा करूंगा। 

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे भी राजनगर से टिकट न मिलने के बाद समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे। समाजवादी पार्टी में शामिल होते ही उनके बेटे को उनकी मनचाही सीट से टिकट भी दे दिया गया और उन्होंने अपना नामांकन भी कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महाराष्ट्र में भी उठी शहरों के नाम बदलने की मांग, शिवसेना नेता ने बताए इन 2 जगहों के नाम


यहां बता दें कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में करीब 39 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। उसमें कई बड़े नेताओं के नाम काट दिए गए हैं। नितिन चतुर्वेदी के सपा में शामिल होने पर सत्यव्रत चतुर्वेदी ने अपनी ही पार्टी पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस पिछले 15 सालों से गलती कर रही है।  

गौर करने वाली बात है कि सत्यव्रत चतुर्वेदी मध्यप्रदेश के बड़े संभाग के ब्राह्मण का नेतृत्व करते हैं। वे मध्यप्रदेश में विधायक, मंत्री और सांसद रह चुके हैं। ऐसे में उनके अपने बेटे के समर्थन में उतर आना कांग्रेस के प्रचार अभियान को नुकसान पहुंचा सकता है।  

Todays Beets: