Saturday, April 20, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

सुप्रीम कोर्ट से भाजपा को झटका , प. बंगाल में बोर्ड परीक्षाओं के दौरान नहीं बजा सकेंगे लाउडस्पीकर-माइक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुप्रीम कोर्ट से भाजपा को झटका , प. बंगाल में बोर्ड परीक्षाओं के दौरान नहीं बजा सकेंगे लाउडस्पीकर-माइक

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा को झटका देते हुए आगामी बोर्ड परीक्षाओं तक पश्चिम बंगाल में लाउडस्पीकर और माइक लगाने की मांग को खारिज कर दिया है। पश्चिम बंगाल भाजपा ने आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर बंगाल के रिहायशी इलाकों में लाउडस्पीकर और माइक के इस्तेमाल पर लगी रोक को हटाने की मांग की थी। चीफ जस्टिस रंजन गोगाई की बेंच ने भाजपा की मांग खारिज करते हुए कहा- स्कूलों में बोर्ड की परीक्षा के बहाने मार्च महीने के अंत तक पश्चिम बंगाल के हर इलाके में माइक और लाउडस्पीकर बजाने पर निषेधाज्ञा जारी करने संबंधी राज्य सरकार की अधिसूचना गलत है, जो कि राजनीति से प्रेरित है। 

असल में पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने अधिसूचना जारी की है, जिसमें स्कूलों में बोर्ड की परीक्षा के मद्देनजर राज्य में कहीं भी किसी भी तरह की माइक और लाउडस्पीकर बजाने पर निषेधाज्ञा जारी रखने को कहा है। ममता सरकार की इस अधिसूचना पर भाजपा का कहना है कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आवाज के मानकों के मुताबिक एक तय सीमा तक माइक और लाउडस्पीकर बजाने की इजाजत होती है लेकिन इस 90 डेसीबल से कम आवाज में माइक बजाने की अनुमति देने के बजाय एक साथ पूरे राज्य में किसी भी तरह का माइक और लाउडस्पीकर बजाने की निषेधाज्ञा पश्चिम बंगाल सरकार की सोची समझी रणनीति है।


असल में राज्य की ममता बनर्जी सरकार पर आरोप लगे हैं कि प्रदेश सरकार एक रणनीति के तहत भाजपा को अपने चुनाव प्रचार से रोकना चाहती है। 

 

Todays Beets: