Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

पुलिस के ठांय-ठांय एनकाउंटर पर योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, SC बोली- विस्तृत सुनवाई की जरूरत

अंग्वाल संवाददाता
पुलिस के ठांय-ठांय एनकाउंटर पर योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, SC बोली- विस्तृत सुनवाई की जरूरत

नई दिल्ली / लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यूपी की योगी सरकार को पुलिस द्वारा किए गए ताबड़तोड़ एकाउंटर को लेकर नोटिस जारी किया है। याचिकाकर्ता ने कहा था कि उत्तर प्रदेश सरकार के गठन के बाद से कानून का राज लागू किए जाने की बाबत जितने एकाउंटर हुए हैं, उनकी सीबीआई जांच या एसआईटी जांच की निगरानी कोर्ट करे। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर मामला है। इस मामले में विस्तृत सुनवाई की आवश्यकता है। अब इस मामले में 12 फरवरी को अगली सुनवाई होगी। 

बता दें कि यूपी की योगी सरकार के गठन के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक बयान जारी करते हुए कहा था कि प्रदेश से अपराधी या तो कहीं चले जाएं, या उन्हें भेज दिया जाएगा। इसके बाद यूपी पुलिस ने ताबड़तोड़ एनकाउंटर करते हुए प्रदेश के कई इनामी बदमाशों को ढेर किया तो कई ने पुलिस के डर से सरेंडर करना शुरू कर दिया। 


इस मामले को लेकर पीयूसीएल ने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल करते हुए इन मुठभेड़ की जांच करने की मांग की थी। कोर्ट के संज्ञान लेने पर यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पिछले दिनों एक हलफनामा भी दाखिल किया था, जिसमें सरकार ने पुलिस द्वारा किए गए एनकाउंटर की विस्तृत जानकारी कोर्ट को उपलब्ध कराई थी। यूपी पुलिस ने इसमें बताया था कि राज्य में अब तक मुठभेड़ के दौरान 48 अपराधियों को मार गिराया गया है, जबकि इन मुठभेड़ में 4 पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं। 

कोर्ट को दी गई जानकारी के अनुसार , मुठभेड़ में मारे गए अपराधियों में 30 बहुसंख्यक समुदाय के थे तो 18 अल्पसंख्यक समुदाय के। इतना ही नहीं पुलिस की कार्रवाई से घबराए करीब 98 हजार से ज्यादा अपराधियों ने इस दौरान सरेंडर किया।

Todays Beets: