Friday, December 14, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

बिहार सरकार अपराधियों के आगे हुई नतमस्तक, पितृपक्ष के दौरान अपराध न करने की अपील 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार सरकार अपराधियों के आगे हुई नतमस्तक, पितृपक्ष के दौरान अपराध न करने की अपील 

पटना। बिहार में सुशासन बाबू के राज में अपराधियों के बेखौफ होने का नमूना खुद राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने किया है। उन्होंने गया में आयोजित एक कार्यक्रम में अपराधियों से हाथ जोड़कर अपील करते हुए कहा कि ‘‘कम से कम पितृपक्ष के दौरान अपराध को अंजाम न दें, बाकी दिन तो आप मना करने के बाद भी ऐसी घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं।’’ बाद में उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की सुरक्षा के लिए सरकार ने इतने सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं कि कोई भी अपराधी बच नहीं पाएगा। राजद नेता तेजस्वी यादव ने उनके बयान पर सरकार पर तंज किया है।

गौरतलब है कि बिहार में अपराधियों के बीच कानून व्यवस्था को लेकर कोई डर नहीं है। कुछ दिनों पहले ही पटना में सिंचाई विभाग के पूर्व कमिश्नर की उनके घर में घुसकर हत्या करने के बाद मुजफ्फरपुर में पूर्व मेयर की सरेशाम एके-47 से भून दिया था। इस मामले में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। वारदात को अंजाम देने के बाद इतना समय बीतने के बाद भी किसी की गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस की गंभीरता पर भी सवाल उठने लगे हैं। 

ये भी पढ़ें - गिरती कानून व्यवस्था के बीच बिहार सरकार का बड़ा फैसला, काम में लापरवाही पर डीआईजी होमगार्ड को ...

 


यहां बता दें कि अब उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का अपराधियों से हाथ जोड़कर अनुरोध करने का मतलब यह निकाला जा रहा है कि सरकार अपराधियों के आगे पूरी तरह से नतमस्तक हो गई है। अपराधी बिना किसी खौफ के खुलेआम वारदात को अंजाम देते हैं और मौके से फरार हो जाते हैं लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ने में नाकाम रहती है। उपमुख्यमंत्री ने अपराधियों से पितृपक्ष के दौरान अपराध न करने की अपील की है। हालांकि बाद में उन्होंने संभलते हुए कहा कि सभी जगहों पर इतने सीसीटीवी लगाए गए हैं कि कोई भी अपराधी बचकर भाग नहीं पाएगा।

 

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के बयान के बाद पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने चुटकी ली है। मोदी ने गया में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं अपराधियों से भी हाथ जोड़कर आग्रह करूंगा, कम से कम पितृपक्ष में तो छोड़ दीजिए। बाकी दिन मना करें न करें कुछ न कुछ तो करते ही रहते हैं।’’ अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि बिहार में कानून का राज है। कानून अपना काम करेगा। हम ना किसी को फंसाते हैं, ना किसी को बचाते हैं। नीतीश कुमार के इन दो तकिया कलामों ने बिहार का बेड़ा गर्क कर दिया है।

Todays Beets: