Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

अगली नवरात्रि से उत्तर प्रदेश के मंदिरों में मिलेंगी गाय के दूध से बनी मिठाइयां, सरकार बना रही है योजना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अगली नवरात्रि से उत्तर प्रदेश के मंदिरों में मिलेंगी गाय के दूध से बनी मिठाइयां, सरकार बना रही है योजना

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश सरकार प्रदेश में धार्मिक स्थलों पर जल्द ही गाय के दूध की मिठाइयां मिलेंगी। राज्य सरकार ऐसी मिठाइयों का प्रसाद अगली नवरा​त्रि से मंदिरों में उपलब्ध कराने पर विचार कर रही है। डेयरी विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने बताया कि फिलहाल बड़े धार्मिक स्थलों पर इसकी शुरुआत की जाएगी। ऐसा गाय के दुग्ध उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें— गोवा में बीफ की कमी नहीं होने देंगे, दूसरे राज्यों से मंगवाकर कमी पूरी की जाएगी - मनोहर पर्रिकर

चौधरी ने बताया कि गाय के दूध को लो​कप्रिय बनाने के लिए प्रदेश सरकार गाय के दूध से बनी मिठाइयां मथुरा, अयोध्या, विंध्याचल और काशी जैसे धार्मिक स्थलों पर प्रसाद के रूप में उपलब्ध कराने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि अगर सब कुछ ठीक रहा, तो श्रद्धालुओं को गाय के दूध से बना प्रसाद उपलब्ध होगा।

ये भी पढ़ें— मध्यप्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, थाने पर हमला कर अपने सा​थी को छुड़ाया

होगा गायों का संरक्षण


चौधरी के अनुसार, इस योजना के पीछे गायों का संरक्षण करना मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने बताया क इस समय प्रदेश में गाय का दूध 22 रुपये लीटर मिलता है, जबकि भैंस का दूध 35 रुपये लीटर है। प्रदेश सरकार गाय के दूध को 42 रुपये लीटर में बेचने के लिए काम कर रही है, ताकि गायों की सही देखभाल हो और लोग उनका संरक्षण करें।

ये भी पढ़ें— जम्मू—कश्मीर की तरह कर्नाटक भी चाहता है अपना अलग से ध्वज, डिजाइन के लिए बनाई 9 सदस्यीय समिति

बीमारियों से बचाता है गाय का दूध

चौधरी ने कहा, विरोधी दलों का कहनाह है कि हम हिन्दूवादी छवि के कारण गाय की बात करते हैं लेकिन ऐसा नहीं है। सच्चाई यह है कि गाय का दूध प्रतिरोधक क्षमता बढाता है और कोलेस्ट्रोल, कैंसर एवं किडनी की बीमारियों में काफी फायदेमंद है।

 

Todays Beets: