Friday, October 19, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

सुशील मोदी के लालू की जमानत रद्द करने वाले बयान पर ‘प्रकट’ हुए तेजस्वी का हमला, पूछा क्या वे डाॅक्टर हैं?

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुशील मोदी के लालू की जमानत रद्द करने वाले बयान पर ‘प्रकट’ हुए तेजस्वी का हमला, पूछा क्या वे डाॅक्टर हैं?

पटना। कई दिनों से ‘लापता’ बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव वापस आ गए हैं। बताया जा रहा है वे विदेश गए हुए थे। वापस लौटते ही उन्होंने मौजूदा उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर हमला बोला है। तेजस्वी ने कहा कि ‘सुशील मोदी उनके पिता लालू यादव की जान के पीछे पड़े हुए हैं’। सुशील मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि देश की अन्य राजनीतिक पार्टियों ने फोनकर उनकी सेहत के बारे में जानकरी ली लेकिन इन्होंने एक बार फोन तक नहीं किया। यहां बता दें कि सुशील मोदी ने कहा था कि लालू यादव कोर्ट से मिली जमानत का उल्लंघन कर रहे हैं और बाकायदा राजनीतिक पार्टी के नेताओं से मिल रहे हैं ऐसे में इनकी जमानत रद्द कर देनी चाहिए। 

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने कहा कि सुशील मोदी को इतनी ज्यादा जमानत की फिक्र लगी है तो वे उनकी स्वास्थ्य रिपोर्ट देख लेें। यह तो अदालत के ऊपर है कि किसे जमानत देना है और किसे नहीं। एनडीए से अलग हो चुके टीडीपी के बारे में उन्होंने कहा कि उनके नेता चंद्रबाबू नायडू खुद लालूजी का हाल जानने नहीं पहुंच पाए तो उन्होंने अपने सांसदों को भेजकर जानकारी ली लेकिन सुशील मोदी ने एक बार फोन तक नहीं किया। 

ये भी पढ़ें - LIVE: हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, सेना ने पूरे इलाके को घेरा


यहां बता दें कि उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने लालू यादव पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्हें इलाज के लिए कोर्ट से जमानत दी गई है जबकि वे राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से रोज मिल रहे हैं। ऐसे में उनकी जमानत रद्द कर देनी चाहिए। सुशील मोदी के इस बयान के बाद तेजस्वी ने कहा कि ‘क्या वे डाॅक्टर हैं?’

गौर करने वाली बात है कि पिछले दिनों ऐसी खबरें आई थी कि तेजस्वी यादव कई दिनों से पटना से ‘लापता’ हैं। वे न तो विधानसभा में जा रहे हैं और न ही पार्टी के किसी कार्यक्रम में भाग नहीं ले रहे हैं। 

Todays Beets: