Friday, January 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

शिक्षक दिवस पर लखनऊ में शिक्षक प्रेरकों पर जमकर लाठीचार्ज, कई घायल, तीन साल से वेतन नहीं मिलने पर किया प्रदर्शन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षक दिवस पर लखनऊ में शिक्षक प्रेरकों पर जमकर लाठीचार्ज, कई घायल, तीन साल से वेतन नहीं मिलने पर किया प्रदर्शन

लखनऊ । जहां एक ओर मंगलवार को शिक्षक दिवस के मौके पर लोग अपने गुरुजनों को याद कर रहे थे, वहीं लखनऊ में अपने तीन साल के वेतन की मांग और खुद को नियमित करने की मांग को लेकर विधानसभा के पास पहुंचे शिक्षक प्रेरकों पर पुलिसवालों ने जमकर लाठियां भांजी। ये लोग विधानसभा के बाहर अपनी मांग उठाते हुए प्रदर्शन कर रहे थे, जिनके वहां से नहीं हटने पर पुलिस वालों ने इन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस लाठीचार्ज में जहां कई शिक्षक प्रेरक मामूली रूप से घायल हो गए, वहीं कई को गंभीर चोटें भी आई हैं। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों से शिक्षक प्रेरक संघ के सदस्य लखनऊ विधानसभा का घेराव करने पहुंचे थे। ये लोग पिछले तीन साल से अपने वेतन न दिए जाने से नाराज थे और वेतन की मांग कर रहे थे। इसके साथ ही इन लोगों की मांग थी कि अब इन्हें नियमित किया जाए। सौकड़ों की संख्या में मौजूद इस लोगों ने प्रदर्शन करना शुरू किया तो पुलिस कर्मियों ने इन लोगों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। इस दौरान पुलिस कर्मियों ने महिला-पुरुष नहीं देखा और बस लाठियां भांजना शुरू कर दिया। इसमें जहां दो महिला शिक्षक प्रेरकों का सिर फट गया, वहीं कई को चोटें आई हैं। 

बता दें कि शिक्षक प्रेरक वे लोग होते हैं जो स्कूल में बच्चों को लाने-ले जाने का काम करते हैं। इन लोगों का कहना है कि पिछले तीन सालों से उनका वेतन नहीं दिया गया है, जिसके विरोध में आज वे प्रदर्शन करने लखनऊ आए थे। 

Todays Beets: