Friday, November 17, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

शिक्षक दिवस पर लखनऊ में शिक्षक प्रेरकों पर जमकर लाठीचार्ज, कई घायल, तीन साल से वेतन नहीं मिलने पर किया प्रदर्शन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षक दिवस पर लखनऊ में शिक्षक प्रेरकों पर जमकर लाठीचार्ज, कई घायल, तीन साल से वेतन नहीं मिलने पर किया प्रदर्शन

लखनऊ । जहां एक ओर मंगलवार को शिक्षक दिवस के मौके पर लोग अपने गुरुजनों को याद कर रहे थे, वहीं लखनऊ में अपने तीन साल के वेतन की मांग और खुद को नियमित करने की मांग को लेकर विधानसभा के पास पहुंचे शिक्षक प्रेरकों पर पुलिसवालों ने जमकर लाठियां भांजी। ये लोग विधानसभा के बाहर अपनी मांग उठाते हुए प्रदर्शन कर रहे थे, जिनके वहां से नहीं हटने पर पुलिस वालों ने इन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस लाठीचार्ज में जहां कई शिक्षक प्रेरक मामूली रूप से घायल हो गए, वहीं कई को गंभीर चोटें भी आई हैं। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों से शिक्षक प्रेरक संघ के सदस्य लखनऊ विधानसभा का घेराव करने पहुंचे थे। ये लोग पिछले तीन साल से अपने वेतन न दिए जाने से नाराज थे और वेतन की मांग कर रहे थे। इसके साथ ही इन लोगों की मांग थी कि अब इन्हें नियमित किया जाए। सौकड़ों की संख्या में मौजूद इस लोगों ने प्रदर्शन करना शुरू किया तो पुलिस कर्मियों ने इन लोगों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। इस दौरान पुलिस कर्मियों ने महिला-पुरुष नहीं देखा और बस लाठियां भांजना शुरू कर दिया। इसमें जहां दो महिला शिक्षक प्रेरकों का सिर फट गया, वहीं कई को चोटें आई हैं। 

बता दें कि शिक्षक प्रेरक वे लोग होते हैं जो स्कूल में बच्चों को लाने-ले जाने का काम करते हैं। इन लोगों का कहना है कि पिछले तीन सालों से उनका वेतन नहीं दिया गया है, जिसके विरोध में आज वे प्रदर्शन करने लखनऊ आए थे। 

Todays Beets: