Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

प्रशांत किशोर पर हुए हमले के बाद कुशवाहा का सीएम पर हमला, कहा- इतनी फजीहत कराकर जीत भी गए तो क्या प्रधानमंत्री बन जाएंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रशांत किशोर पर हुए हमले के बाद कुशवाहा का सीएम पर हमला, कहा- इतनी फजीहत कराकर जीत भी गए तो क्या प्रधानमंत्री बन जाएंगे

पटना। बिहार की राजनीति में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। देर रात जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पर पटना यूनिवर्सिटी के छात्रों के द्वारा किए गए हमले के बाद राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने राज्य सरकार पर को आड़े हाथों लिया है। कुशवाहा ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि ‘‘आने वाली पीढ़ी कैसे विश्वास करेगी कि आप भी उसी विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं।’’ कुशवाहा ने आगे लिखा, “जनाब! छात्रसंघ चुनाव को प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाकर पुलिस, प्रशासन, विश्वविद्यालय सबको दंडवत करा दिया। इतनी फजीहत कराकर जीत भी गए तो क्या प्रधानमंत्री बन जाएंगे।”

यहां बता दें कि उपेन्द्र कुशवाहा ने अपने दूसरे ट्वीट मंे कहा कि छात्रसंघ का चुनाव छात्रों का है इसे प्रदेश की राजनीति से दूर रखा जाए। छात्रों के बीच वैचारिक द्वंद्व को आपराधिक रंग देना ठीक नहीं। लिंगदोह रिपोर्ट की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। आपको बता दें कि देर रात जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर यूनिवर्सिटी के कुलपति से मिलने पहुंचे थे। वे जब बाहर निकल रहे थे एबीवीपी के छात्रों ने उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया था। हालांकि इस हमले में उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ था। 

ये भी पढ़ें - राज्य में फिल्म शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए पेशेवर रवैया अपनाएगी सरकार- त्रिवेन्द्र रावत 


गौर करने वाली बात है कि इस घटना के बाद भाजपा नेताओं ने प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन पर छात्रसंघ चुनाव में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था। इसके बाद अब उपेन्द्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि ‘‘आने वाली पीढ़ी कैसे विश्वास करेगी कि आप भी उसी विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं।’’

  

Todays Beets: