Monday, January 21, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में अब ये विषय नहीं पढ़ाए जाएंगे, छात्रों में मचा हड़कंप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हिमाचल के सरकारी स्कूलों में अब ये विषय नहीं पढ़ाए जाएंगे, छात्रों में मचा हड़कंप

शिमला। हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए काफी महत्वपूर्ण खबर है। अब 9वंी और 10वीं कक्षा के छात्रों को वोकेशनल एजूकेशन के तौर पर हेल्थ केयर, मीडिया एवं इंटरटेनमेंट विषय नहीं पढ़ाए जाएंगे। इसके बदले छात्रों को ड्राइंग, आईटी और अन्य विषय की शिक्षा दी जाएगी। फिलहाल वोकेशनल विषयों के हटाए जाने से स्कूलों में वोकेशनल विषय बदलने से स्कूलों के स्टाफ सदस्यों समेत विद्यार्थियों में भी हड़कंप मच गया है।

गौरतलब है कि वोकेशनल परियोजना निदेशक की ओर से विषयों के अचानक बदलाव से छात्रों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। राज्य परियोजना निदेशक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि स्कूलों में बच्चों को पढ़ाए जा रहे हेल्थ केयर, मीडिया एवं इंटरटेनमेंट के बजाय अन्य विषय पढ़ाए जाएं। 

ये भी पढ़ें - मध्यप्रदेश की जुवेनाइल कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में कायम की मिसाल, महज 7 घंटे के अंदर सुनाई सजा


यहां बता दें कि इसके लिए सभी प्रधानाचार्यों को पत्र भेजकर सूचित कर दिया गया है। शिक्षकों का मानना है कि स्कूल में शैक्षणिक सत्र 2018-19 का आधे से अधिक समय बीत जाने के बाद इसमें बदलाव करने से छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।  बताया जा रहा है कि प्रदेश सरकार ने छात्रों की परेशानियों को देखते हुए केंद्र सरकार को पत्र भी लिखा था लेकिन वहां से इसे मना कर दिया गया। 

 

Todays Beets: