Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

जरा सावधान! चीनी मोबाइल कंपनियां कर रही है आपका डाटा चोरी 

अंग्वाल संवाददाता
जरा सावधान! चीनी मोबाइल कंपनियां कर रही है आपका डाटा चोरी 

नई दिल्ली। चीनी कंपनियों द्वारा मोबाइल डाटा चोरी करने का मामला सामने आ रहा है। चीन के डाटा चोरी करने की रिपोर्ट मिलने के बाद भारत सरकार ने सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। केंद्र ग्राहकों का डाटा चुराने और उसके अनुचित इस्तेमाल के संदेह में 21 मोबाइल कंपनियों को सरकार की तरफ से नोटिस जारी किए गए हैं। इसमें vivo, oppo, ximoai, gionee समेत ज्यादातर चीनी कंपनियां शामिल हैं। सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, इन कंपनियों से सरकार ने 28 अगस्त तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। कंपनियों से नोटिस के जरिए ग्राहकों के डाटा को सुरक्षित रखने के लिए अपनाई गई प्रक्रियाओं के बारे में पूछा गया है। साथ ही यह भी पूछा गया है कि क्या डाटा को देश से बाहर भेजा जाता है या अन्य व्यावसायिक कार्यों में इस्तेमाल तो नहीं हो रहा है। 

यह भी पढ़े- सरकार ने लॉन्च किया GST finder app, अब नहीं खा सकेंगे धोखा

अधिकारी के अनुसार, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ग्राहकों के डाटा लीक होने की रिपोर्ट मिली है। इसी के चलते सरकार ने सबसे पहले मोबाइल फोन में लॉड सॉफ्टवेयर और एप की जांच कराने का फैसला किया है। कंपनियों के जवाब के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 


यह भी पढ़े- खरीदें Renault की यह कार और पाए 2 लाख रुपये तक का बंपर डिस्काउंट

सरकार लगाएगी भारी जुर्माना 

सरकार को संदेह है कि कंपनियां ग्राहकों की कांटैक्ट लिस्ट और अन्य प्रकार की निजी सूचनाएं चुरा रही हैं। अगर कंपनियां दोषी पाएगी तो आईटी एक्ट की धारा 43 ए के तहत उन पर भारी जुर्माना लगेगा।  

Todays Beets: