Wednesday, December 19, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

जरा सावधान! चीनी मोबाइल कंपनियां कर रही है आपका डाटा चोरी 

अंग्वाल संवाददाता
जरा सावधान! चीनी मोबाइल कंपनियां कर रही है आपका डाटा चोरी 

नई दिल्ली। चीनी कंपनियों द्वारा मोबाइल डाटा चोरी करने का मामला सामने आ रहा है। चीन के डाटा चोरी करने की रिपोर्ट मिलने के बाद भारत सरकार ने सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। केंद्र ग्राहकों का डाटा चुराने और उसके अनुचित इस्तेमाल के संदेह में 21 मोबाइल कंपनियों को सरकार की तरफ से नोटिस जारी किए गए हैं। इसमें vivo, oppo, ximoai, gionee समेत ज्यादातर चीनी कंपनियां शामिल हैं। सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, इन कंपनियों से सरकार ने 28 अगस्त तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। कंपनियों से नोटिस के जरिए ग्राहकों के डाटा को सुरक्षित रखने के लिए अपनाई गई प्रक्रियाओं के बारे में पूछा गया है। साथ ही यह भी पूछा गया है कि क्या डाटा को देश से बाहर भेजा जाता है या अन्य व्यावसायिक कार्यों में इस्तेमाल तो नहीं हो रहा है। 

यह भी पढ़े- सरकार ने लॉन्च किया GST finder app, अब नहीं खा सकेंगे धोखा

अधिकारी के अनुसार, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ग्राहकों के डाटा लीक होने की रिपोर्ट मिली है। इसी के चलते सरकार ने सबसे पहले मोबाइल फोन में लॉड सॉफ्टवेयर और एप की जांच कराने का फैसला किया है। कंपनियों के जवाब के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 


यह भी पढ़े- खरीदें Renault की यह कार और पाए 2 लाख रुपये तक का बंपर डिस्काउंट

सरकार लगाएगी भारी जुर्माना 

सरकार को संदेह है कि कंपनियां ग्राहकों की कांटैक्ट लिस्ट और अन्य प्रकार की निजी सूचनाएं चुरा रही हैं। अगर कंपनियां दोषी पाएगी तो आईटी एक्ट की धारा 43 ए के तहत उन पर भारी जुर्माना लगेगा।  

Todays Beets: