Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

सफर के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी ‘राइडनेस्ट’ एप

अंग्वाल संवाददाता
 सफर के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी ‘राइडनेस्ट’ एप

नई दिल्ली। महिलाओं के सफर को सुलभ और सुरक्षित बनाने के लिए एक नया एप लॉन्च किया गया है। दिल्ली टेक्नोजिकल यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र अनुज धवन ने इस एप को बनाया है। इस एप का नाम राइडनेस्ट रखा गया है। अनुज का कहना है कि यह एप महिलाओं को एक समूह में रहने की ताकत प्रदान करती है, चाहे वे यात्रा के दौरान हो, फिल्म देखने, शॉपिंग करने या किसी प्रोग्राम में शामिल होना हो। इस प्रकार महिलाएं आपस में जुड़े रहकर अपनी सुरक्षा सुनिश्चित कर सकती है।

यह भी पढ़े- Facebook live में जल्द ही एड होंगे कुछ नए फीचर, पढ़े पूरी रिपोर्ट...

 


 

इसी के साथ अनुज ने बताया कि यह कोई राइड-शेयरिंग एप नहीं है, बल्कि यह जान-पहचान के लोगों के बीच जानकारी अपलब्ध कराने की सुविधा प्रदान करती है। उन्होंने बताया कि उन्हें यह एप बनाने की प्रेरणा वर्ष 2012 में हुए निर्भया कांड के से मिली , जिसमें महिलाओं के रात में सफर करने के दौरान सुरक्षा को लेकर बेहद भयानक मामला सामने आया था।

यह भी पढ़े- Whatsapp में आया नया कलरफुल टेक्स्ट फीचर, यूजर्स का फोटो और वीडियो शेयर करना होगा और भी मजेदार

बता दें कि यह गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर पर फ्री में उपलब्ध इस एप में अमरजेंसी के लिए एसओएस बटन है, जिसे दो लोगों को एक मैसेज के जरिए सूचित किया जा सकता है। इससे पीड़िता अपने घर पर आसानी से परेशानी के दौरान मैसेज पहुंचा सकती है।    

Todays Beets: