Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

सफर के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी ‘राइडनेस्ट’ एप

अंग्वाल संवाददाता
 सफर के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी ‘राइडनेस्ट’ एप

नई दिल्ली। महिलाओं के सफर को सुलभ और सुरक्षित बनाने के लिए एक नया एप लॉन्च किया गया है। दिल्ली टेक्नोजिकल यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र अनुज धवन ने इस एप को बनाया है। इस एप का नाम राइडनेस्ट रखा गया है। अनुज का कहना है कि यह एप महिलाओं को एक समूह में रहने की ताकत प्रदान करती है, चाहे वे यात्रा के दौरान हो, फिल्म देखने, शॉपिंग करने या किसी प्रोग्राम में शामिल होना हो। इस प्रकार महिलाएं आपस में जुड़े रहकर अपनी सुरक्षा सुनिश्चित कर सकती है।

यह भी पढ़े- Facebook live में जल्द ही एड होंगे कुछ नए फीचर, पढ़े पूरी रिपोर्ट...

 


 

इसी के साथ अनुज ने बताया कि यह कोई राइड-शेयरिंग एप नहीं है, बल्कि यह जान-पहचान के लोगों के बीच जानकारी अपलब्ध कराने की सुविधा प्रदान करती है। उन्होंने बताया कि उन्हें यह एप बनाने की प्रेरणा वर्ष 2012 में हुए निर्भया कांड के से मिली , जिसमें महिलाओं के रात में सफर करने के दौरान सुरक्षा को लेकर बेहद भयानक मामला सामने आया था।

यह भी पढ़े- Whatsapp में आया नया कलरफुल टेक्स्ट फीचर, यूजर्स का फोटो और वीडियो शेयर करना होगा और भी मजेदार

बता दें कि यह गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर पर फ्री में उपलब्ध इस एप में अमरजेंसी के लिए एसओएस बटन है, जिसे दो लोगों को एक मैसेज के जरिए सूचित किया जा सकता है। इससे पीड़िता अपने घर पर आसानी से परेशानी के दौरान मैसेज पहुंचा सकती है।    

Todays Beets: