Monday, December 18, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

Google और Apple ने अपने ऑनलाइन स्टोर से हटाए 300 से अधिक ट्रेडिंग एप, जानें क्या है कारण

अंग्वाल संवाददाता
Google और Apple ने अपने ऑनलाइन स्टोर से हटाए 300 से अधिक ट्रेडिंग एप, जानें क्या है कारण

कैनबरा। ऑस्ट्रेलियाई सिक्योरिटीज एंड इंवेस्टमेंट कमिशन (एएसआईसी) के दखल के बाद गूगल और एप्पल ने 330 से ज्यादा स्देंहपूर्ण वितीय करोबार करने वाली एप को अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, एएसआईसी ने पाया है कि कई एप बिना लाइसेंस लिए इनका संचालन कर रहे थी। जो बाइनरी ट्रेडिंग पर ध्यान केंद्रित करते हैं। प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि बाइनरी ट्रेडिंग में यह अनुमान लगाया जाता है कि विकल्प करोबार में कौन-से शेयर कम समय में चढ़ेंगे या टूटेंगे और उसके बाद इनके ग्राहक उन अनुमानों के आधार पर खरीदारी करते हैं। एएसआईसी का कहना है कि यह खतरे और सट्टे वाला करोबार ऑस्ट्रेलिया के लिए पहले की तुलना में नया है।

यह भी पढ़े- यूजर्स से अब बात कर सकता है FACEBOOK  का नया टॉकिंग रोबोट, नया फीचर लाने की तैयारी

 

 


आपको बता दें कि विनिमायकों ने एप की समीक्षा की तो उन्होंने पाया कि इन एप मालिकों ने इसके बारे में यूजर्स को इस प्रकार के ट्रेडिंग जोखिम की जानकारी दे रखी है। विनिमायक ने कहा, इसकी बजाए उन्होंने लोगों से कहा है कि उनके एप के इस्तेमाल के तुंरत बाद वह अमीर बन सकते हैं। एएसआईसी ने इसके जानकारी होते ही तुंरत गूगल और एप्पल को नोटिस जारी कर ऐसी 330 एप हटाने के निर्देश दिए जिसके बाद दोनों कंपनियों ने अपने स्टोर से इन एप को हटा दिया है।

यह भी पढ़े- फर्जी आधार एप्स से रहें सावधान, UIDAI  ने जारी की चेतावनी

 

Todays Beets: