Thursday, August 24, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

Google और Apple ने अपने ऑनलाइन स्टोर से हटाए 300 से अधिक ट्रेडिंग एप, जानें क्या है कारण

अंग्वाल संवाददाता
Google और Apple ने अपने ऑनलाइन स्टोर से हटाए 300 से अधिक ट्रेडिंग एप, जानें क्या है कारण

कैनबरा। ऑस्ट्रेलियाई सिक्योरिटीज एंड इंवेस्टमेंट कमिशन (एएसआईसी) के दखल के बाद गूगल और एप्पल ने 330 से ज्यादा स्देंहपूर्ण वितीय करोबार करने वाली एप को अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, एएसआईसी ने पाया है कि कई एप बिना लाइसेंस लिए इनका संचालन कर रहे थी। जो बाइनरी ट्रेडिंग पर ध्यान केंद्रित करते हैं। प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि बाइनरी ट्रेडिंग में यह अनुमान लगाया जाता है कि विकल्प करोबार में कौन-से शेयर कम समय में चढ़ेंगे या टूटेंगे और उसके बाद इनके ग्राहक उन अनुमानों के आधार पर खरीदारी करते हैं। एएसआईसी का कहना है कि यह खतरे और सट्टे वाला करोबार ऑस्ट्रेलिया के लिए पहले की तुलना में नया है।

यह भी पढ़े- यूजर्स से अब बात कर सकता है FACEBOOK  का नया टॉकिंग रोबोट, नया फीचर लाने की तैयारी

 

 


आपको बता दें कि विनिमायकों ने एप की समीक्षा की तो उन्होंने पाया कि इन एप मालिकों ने इसके बारे में यूजर्स को इस प्रकार के ट्रेडिंग जोखिम की जानकारी दे रखी है। विनिमायक ने कहा, इसकी बजाए उन्होंने लोगों से कहा है कि उनके एप के इस्तेमाल के तुंरत बाद वह अमीर बन सकते हैं। एएसआईसी ने इसके जानकारी होते ही तुंरत गूगल और एप्पल को नोटिस जारी कर ऐसी 330 एप हटाने के निर्देश दिए जिसके बाद दोनों कंपनियों ने अपने स्टोर से इन एप को हटा दिया है।

यह भी पढ़े- फर्जी आधार एप्स से रहें सावधान, UIDAI  ने जारी की चेतावनी

 

Todays Beets: