Wednesday, August 23, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

वीडियो गेम्स की दुनिया दीवानी, 1 माह में 1.15 अरब घंटा बिताते हैं गेम खेलने में,भारत बनेगा सबसे बड़ा हब

अंग्वाल संवाददाता
वीडियो गेम्स की दुनिया दीवानी, 1 माह में 1.15 अरब घंटा बिताते हैं गेम खेलने में,भारत बनेगा सबसे बड़ा हब

नईदिल्ली। बच्चा हो या बड़ा इंसान दोनों को वीडियो गेम खेलना पंसद होता है। खासकर युवाओं में तो वीडियो गेम के लिए एक तरह की दीवानगी होती है। अमूनन लोग सफर के दौरान समय बिताने के लिए वीडियो गेम्स खेलना पंसद करते हैं । वीडियो गेमिंग एक ऐसा इकलौता विकल्प है जो सबसे ज्यादा वक्त बिताने के लिए पंसद किए जाता है।  इस बात का प्रमाण देने के लिए इतना जानना ही काफी है कि दुनिया में वीडियो गेम का बाजार 108.9 अरब डॉलर का होता है। जी हां , ग्लोबल गेम्स मार्केट की रिपोर्ट के अनुसार पता चला है कि दुनिया में 2.2 अरब लोग वीडियो गेम्स खेलते हैं। बता दें कि पिछले साल के आंकड़ों की तुलना में यह आंकड़ा 7.8 फीसदी से बढ़ गया है।

 

 

अगर आंकड़ों की सहायता से देखें तो वीडियो खेल की दीवानगी सबसे ज्यादा एशिया में है। दुनिया के कुल आंकड़ों में से केवल एशिया की हिस्सेदारी 47 फीसदी से अधिक है। अकेले चीन में वीडियो गेम का कुल 27 अरब डॉलर से ज्यादा का बाजार है।

 

 

दुनिया में 1.15 अरब घंटे लोग प्रति महीने वीडियो गेम्स में बिताते हैं। अकेले अमेरिका में 18 करोड़ घंटे प्रति महीने गेमर्स वीडियो गेम खेलने में अपना समय बिताते हैं।


 

 

एक रिपोर्ट के मुताबिक अनुमान लगाया जा रहा है कि भारत में साल 2022 तक वीडियो गेम का बाजार लगभग 40 करोड़ डॉलर तक पहुंच जाएगा। CII-टेकसाई रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार भारत में वीडियो गेम का बाजार 286.2 डॉलर का होगा।

 

 

वहीं दुनिया में बढ़ते गेमर्स की संख्या स्मार्टफोन यूजर्स के चलते अधिक तेजी से बढ़ रही है। साल 2015 में मोबाइल गेमर्स की संख्या  19.8 करोड़ थी। जिसका अनुमान लगाया गया है कि 2020 तक ये 62.8 करोड़ हो सकती है। इस अनुमान के आधार पर कहा जा सकता है कि चीन के बाद भारत देश दुनिया में बड़े गेम्स का उद्योग साबित होगा।   

Todays Beets: