Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

अब कार बता सकेगी कहीं आपको हार्ट अटैक तो नहीं आ रहा... 

अंग्वाल संवाददाता
अब कार बता सकेगी कहीं आपको हार्ट अटैक तो नहीं आ रहा... 

हार्ट अटैक के दौरान कुछ ही मिनटों में इंसान मर जाता और अगर सही समय पर इलाज़ मिल जाए तो जीवन बच जाता हैं और अगर यही हार्ट अटैक ड्राइविंग करते वक्त आ जाए तो खतरा और बढ़ जाता है। कैसे होगा अगर ड्राइविंग करते वक्त आपकी कार आपको पहले ही संकेत देदे कि आपको हार्ट अटैक तो नहीं आ रहा ? जी हां दोस्तो कुछ ऐसा ही युएस कि ‘मिशिगन यूनिवर्सिटी’ के शोधकर्ता और जापान की ऑटोमेकर कंपनी टोयोटा दोनों मिलकर इस शोध पर कार्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़े - टाटा जल्द ही बाजार में उतारेगी 1 लीटर में 100 किलोमीटर चलने वाली कार, जानें कार की खासियत के ...

कार मे लगा सिस्टम बताएगा


बता दें कि ये सिस्टम एल्गोरिदम, पोटेंशियल सॅाल्युशन और हार्डवेयर ऑप्शन के द्वारा यह पता लगा लेगा कि ड्राइवर कि शारीरिक स्थिति कैसी है। शोधकर्तों के अनुसार, यह सिस्टम ईसीजी मेजरमेंट से फिजिओलॅाजी और बाकी मेडिकल मेजरमेंट से कार ड्राइव कर रहे व्यक्ति के दिल कि स्थिति के बारे में बताएगा।एक हाई-क्वालिटी डिवाइस होगी जो ड्राइवर के सीने से चिपकी होगी।

ड्राइवर की ईसीजी काउंटिग इस डिवाइस में अपलोड होगी , जो ड्राइवर के दिल को मॅानिटर करेगी। शोधकर्ताओं ने  बताया कि 2020 तक हमें इस शोध के नतीजें मिलना शुरू हो जाएंगे। आमतौर पर हार्ट अटैक कि घटना ज्यादा तर 65 साल से ऊपर के लोगों को होती है।

यह भी पढ़े -  अगर आप चाहते हैं कि आपके पर्सनल चैट कोई न पढ़े, ऐसे करें लाॅक

Todays Beets: