Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

 बेहतर फोटो के लिए सिर्फ मेगापिक्सल ही नहीं जिम्मेदार, इन टेक्नोलाॅजी का होना जरूरी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 बेहतर फोटो के लिए सिर्फ मेगापिक्सल ही नहीं जिम्मेदार, इन टेक्नोलाॅजी का होना जरूरी 

नई दिल्ली। आजकल डिजिटल कैमरे की जगह स्मार्टफोन ने ले लिया है। फोन इस्तेमाल करने से ज्यादा उनका मकसद बेहतर कैमरे का होता है। फोटो बेतहरीन आए इसके लिए हम ज्यादा मेगापिक्सल वाले फोन खरीदने पर जोर देते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि फोटो की क्वालिटी सिर्फ मेगापिक्सल पर नहीं बल्कि कुछ और भी चीजों पर निर्भर करती है। आइए इसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।  

गौरतलब है कि एक मेगापिक्सल में 10 लाख पिक्सल होते हैं। मेगापिक्सल पिक्चर की मेजरमेंट यूनिट है। आपको बता दें कि पिक्चर कई लाख पिक्सल्स से मिलकर बनती है ऐसे में पिक्सल्स जितने ज्यादा होंगे फोटो उतनी ही अच्छी आएगी। दरअसल, पिक्सल्स फोटो की साइज और क्वालिटी को बेहतर करते हैं। 

ये भी पढ़ें - अब आप बिना व्हाट्सऐप खोले भी भेज सकेंगे संदेश, जानें नए फीचर के बारे में


आमतौर पर आपने लोगों को कहते भी सुना होगा की पिक्चर के पिक्सल्स फट रहे हैं। इसका कारण कम मेगापिक्सल्स होना ही होता है। 8 मेगापिक्सल के कैमरे से खींची गई फोटो का एक बड़ा पोस्टर साइज प्रिंटआउट निकाला जा सकता है। दो या तीन मेगापिक्सल के कैमरे से ए4 या ए3 साइज का प्रिंट लिया जा सकता है। फोटो कितनी बड़ी होगी और बड़ी होकर उसकी क्वालिटी कितनी बेहतर होगी यह पिक्सल्स पर निर्भर करता है।

बेहतर फोटो के लिए मेगापिक्सल के साथ ही कैमरे के लेंस और उसकी क्षेत्र स्पीड भी जरूरी है। डिजिटल कैमरे में शटर स्पीड का मतलब है की किसी ऑब्जेक्ट को क्लिक करते समय कैमरा का सेंसर कितने देर तक ओपन रहेगा। शटर स्पीड जितनी कम होगी उतना अच्छा होगा। अलग-अलग शटर क्वालिटी के कारण इमेज क्वालिटी में अंतर आता है। ऐसे में मेगापिक्सल का मतलब यह नहीं है की आपके कैमरे की क्वालिटी भी अच्छी हो।

 

Todays Beets: