Thursday, April 19, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

अब स्मार्टफोन की बैट्री चार्ज करना होगा आसान, वैज्ञानिकों का दावा शरीर की बिजली से होगी चार्ज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब स्मार्टफोन की बैट्री चार्ज करना होगा आसान, वैज्ञानिकों का दावा शरीर की बिजली से होगी चार्ज

नई दिल्ली। आज स्मार्टफोन हर युवा के हाथ में है लेकिन उसकी बैट्री को लेकर हमेशा से परेशानी रही है। अब इंसान स्मार्टफोन के साथ चार्जर या पावर बैंक हर जगह लेकर नहीं जा सकता है। ऐसे में वैज्ञानिकों ने स्मार्टफोन की बैट्री को चार्ज करने का एक अनोखा तरीका निकाला है। वैज्ञानिकों ने ऐसा यंत्र विकसित किया है जो शरीर की मदद से ही बिजली पैदा कर सकता है।

ट्राइबोइलेक्ट्रिक तकनीक

गौरतलब है कि वैज्ञानिकों ने एक ऐसा टैब तैयार किया है जो शरीर की मामूली हरकतों से बिजली पैदा करने में सक्षम है। अमेरिका की बफलो यूनिवर्सिटी के एक वैज्ञानिक ने बताया कि हमारा शरीर बड़ी मात्रा में ऊर्जा पैदा कर सकता है ऐसे मंे हमने यह विचार किया कि इस ऊर्जा का सही इस्तेमाल किया जाए। शोधकर्ताओं ने इसके लिए ‘ट्राइबोइलेक्ट्रिक’ तकनीक का इस्तेमाल किया। इस तकनीक में दो पदार्थों को एक दूसरे के संपर्क में लाकर ऊर्जा पैदा की जाती है। 


48 एलईडी बल्ब जलाने की क्षमता

यहां बता दें कि वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किए गए इस टैब में सोने और ‘पीडीएमएस’ का इस्तेमाल किया गया है। इस टैब को जब शरीर के किसी भी हिस्से से जोड़ा जाता है तो तो उसकी हरकत से इसमें मौजूद दोनों पदार्थ संपर्क में आते हैं और ऊर्जा बनती है। जैसे कि कोई उंगली उठाता है, या हाथ घुमाता है या फिर पैर चलाता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस उपकरण की मदद से करीब 124 वोल्ट का करंट पैदा किया जा सकता है और इतनी ऊर्जा लाल रंग की करीब 48 एलईडी को एक साथ जला सकती है। अभी इस तकनीक के जरिए मोबाइल को तुरंत चार्ज नहीं किया जा सकता है शोधकर्ता इस ऊर्जा को जमा कैसे किया जाए इस पर भी विचार कर रहे हैं। 

Todays Beets: