Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

अब आपदा के दौरान घबराने की जरूरत नहीं, बिना नेटवर्क भी भेज सकेंगे अपनों तक संदेश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब आपदा के दौरान घबराने की जरूरत नहीं, बिना नेटवर्क भी भेज सकेंगे अपनों तक संदेश 

नई दिल्ली। आजकल मोबाइल यूजर्स को अक्सर नेटवर्क की समस्या से दो चार होना पड़ रहा है। ऐसे में उनके लिए मैसेज भेजना या बात करना कई बार मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अब आपके लिए खुशखबरी है अब आपको नेटवर्क प्राॅबलम की वजह से मैसेज भेजने में किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। स्पेन के कुछ डेवलपर्स ने एक ऐसा एप डेवलप किया है जो इमरजेंसी में भी बिना नेटवर्क के काम करेगा। इस एप के जरिए लोग भूकंप, बाढ़ और आग लगने की स्थिति में अपने परिजनों को बिना नेटवर्क मैसेज कर सकेंगे।

बिना नेटवर्क पहुंचे अपनों तक

गौरतलब है कि आपदा की स्थिति में अक्सर लोगों को नेटवर्क की परेशानी झेलनी पड़ती है। इस स्थिति में फोन करने या मैसेज भेजने में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन इस इमरजेंसी एप की मदद से आप अपनों को सूचित कर सकते हैं कि आपकी स्थिति क्या है और आप कहां हैं।


ये भी पढ़ें - फेसबुक को भी करना पड़ सकता है आधार से लिंक, फर्जी अकाउंट पर लगाम लगाने की कोशिश

दो किलोमीटर के दायरे में कारगर

यहां बता दें कि इस खास एप को स्पेन के यूनिवर्सिटी द डी एलिकांटे के शोधकर्ताओं ने तैयार किया है। इस एप की मदद से आप बिना सिग्नल के भी संदेश भेज सकते हैं लेकिन इसमें एक शर्त यह भी है कि इस एप से मैसेज रिसीव करने के लिए सामने वाले के पास भी यह एप होना चाहिए। मैसेज भेजने के साथ इसमें लोकेशन भेजने की भी सुविधा है। सर्च या रेस्क्यू टीम के पास भी एंटिने वाली एक डिवाइस होगी जिससे एप को सिग्नल मिलेगा। ऐसे में सर्च टीम को भी मदद मिलेगी। यह एप 2-3 किलोमीटर के दायरे तक काम करता है। 

Todays Beets: