Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

अब लेजर के जरिए होगा मोबाइल चार्ज, वैज्ञानिकों ने किया लेजर एमिटर उपकरण का सफल परीक्षण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब लेजर के जरिए होगा मोबाइल चार्ज, वैज्ञानिकों ने किया लेजर एमिटर उपकरण का सफल परीक्षण

नई दिल्ली। अभी तक तो आपने मोबाइल फोन को चार्जर के जरिए ही चार्ज करने के बारे में सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है कि अब वैज्ञानिकों ने एक ऐसे लेजर एमीटर उपकरण का विकास किया है जो बिना किसी तार की सहायता से अब मोबाइल रिचार्ज कर देगा। यह उपकरण एक कमरे के भीतर स्मार्टफोन को उतनी ही तेजी से चार्ज करता है जितनी तेजी से यूएसबी केबल जरिए होता हैै। बड़ी बात यह है कि जिन शोधकर्ताओं ने इस उपकरण का विकास किया है उनमें कुछ भारतीय मूल के वैज्ञानिक भी शामिल हैं। 

लेजर की गर्मी को कम कर देगा 

गौरतलब है कि वैज्ञानिकों ने एक पतले पाॅवर सेल को स्मार्टफोन के पीछे रखा जो कि लेजर की पावर का इस्तेमाल कर बिल्कुल सुरक्षित तरीके से मोबाइल को रिचार्ज कर देता है। बता दें कि वैज्ञानिकों ने इस बात का भी पूरा ध्यान रखा कि इस उपकरण से लोगों को किसी तरह का नुकसान नहीं हो, इसके लिए वैज्ञानिकों ने इस तकनीक में मेटल, फ्लैट-प्लेट हीटसिंक समेत कई सुरक्षा मानक भी तैयार किए जो कि लेजर से निकलने वाली गर्मी को कम करने का काम करते हैं।

सुरक्षा के उपाय


यहां बता दें कि वैज्ञानिकों ने इस तकनीक में ऐसा रिफ्लेक्टर भी विकसित किया है जिससे लेजर और मोबाइल के बीच में किसी के आने पर वह काम करना बंद कर देता है। अमेरिका के वाश्ंिगटन यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर श्याम गोल्लाकोटा ने बताया कि लेजर से स्मार्टफोन को रिचार्ज करने के तरीके का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है। प्रोफेसर ने बताया कि इस तकनीक में मोबाइल और एमिटर के बीच जैसे ही कोई आएगा वह काम करना बंद कर देता है। इसी शोध से जुडे़ दूसरे भारतीय वैज्ञानिक ने बताया कि इस तकनीक में चार्जिंग बीम से निकलने वाले तेज गर्मी को कम करने के भी उपाय हैं। उनका कहना है कि यह सभी सुविधा लेजर चार्जर को काफी सुरक्षित बनाता है। 

14 फीट की दूरी से कर सकेंगे चार्ज

एक पतली सी लेजर किरण 4.3 मीटर या करीब 14 फीट की दूरी से 15 वर्ग इंच क्षेत्र में 2 वॉट पॉवर देने में सक्षम है। 12 मीटर या 40 फीट की दूरी से चार्ज करने के लिए लेजर एमिटर का क्षेत्र 100 वर्ग सेंटीमीटर तक बढ़ाया जा सकता है।

Todays Beets: