Friday, September 21, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मशीन बन रहा इंसान का दुश्मन, आने वाले सालों में रोबोट लेगा उसकी जगह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मशीन बन रहा इंसान का दुश्मन, आने वाले सालों में रोबोट लेगा उसकी जगह

नई दिल्ली। इंसानों द्वारा किया जा रहा तकनीक का विकास उसके लिए ही खतरा बनता जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि आने वाले समय में इंसानों द्वारा किया जाने वाला काम रोबोट से लिया जाएगा। अगर ऐसा होता है तो पूरी दुनिया में रोजगार में जबर्दस्त गिरावट आएगी। हाल ही में आई ‘प्यू’ द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2020 तक रोजगार के कई क्षेत्र ऐसे होंगे जो आॅटोमेशन का शिकार हो जाएंगे। तकनीक के इस विकास से डरे अमेरिका के लोगों ने स्वचालित कारों और रोबोट के इस्तेमाल से अभी से ही घबराने लगे हैं। आॅटोमेशन की वजह से अमेरिका में 18 से 24 सालों के नौजवानों की नौकरी जा चुकी है।

नौकरियां छिनने का खतरा

गौरतलब है कि जिस तरह से तकनीक का विकास हो रहा है उससे बड़े पैमाने पर इंसानी नौकरी के छिन जाने का खतरा मंडरा रहा है। वर्ल्ड इकोनाॅमिक फोरम की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले पांच सालों में विकसित देशों की करीब 51 लाख नौकरियां छिन जाएंगी। 

ये भी पढ़ें - विंटर गेम्स के लिए औली पूरी तरह से तैयार, एक बार फिर से लग सकता है साहसिक खेलों के शौकीनों ...


सिर्फ ड्राइवरलेस कारें दौडेंगी

तकनीक के विकास की वजह से अमेरिका में ड्राइवरलेस कारों का चलन बढ़ता जा रहा है। ‘प्यू’ की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में आधे से ज्यादा लोग यह मानते हैं कि आने वाले 10 साल से 50 साल के अंदर सड़कों पर सिर्फ ड्राइवरलेस कार ही चलेंगे। 

 

Todays Beets: