Wednesday, November 21, 2018

Breaking News

   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||

मशीन बन रहा इंसान का दुश्मन, आने वाले सालों में रोबोट लेगा उसकी जगह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मशीन बन रहा इंसान का दुश्मन, आने वाले सालों में रोबोट लेगा उसकी जगह

नई दिल्ली। इंसानों द्वारा किया जा रहा तकनीक का विकास उसके लिए ही खतरा बनता जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि आने वाले समय में इंसानों द्वारा किया जाने वाला काम रोबोट से लिया जाएगा। अगर ऐसा होता है तो पूरी दुनिया में रोजगार में जबर्दस्त गिरावट आएगी। हाल ही में आई ‘प्यू’ द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2020 तक रोजगार के कई क्षेत्र ऐसे होंगे जो आॅटोमेशन का शिकार हो जाएंगे। तकनीक के इस विकास से डरे अमेरिका के लोगों ने स्वचालित कारों और रोबोट के इस्तेमाल से अभी से ही घबराने लगे हैं। आॅटोमेशन की वजह से अमेरिका में 18 से 24 सालों के नौजवानों की नौकरी जा चुकी है।

नौकरियां छिनने का खतरा

गौरतलब है कि जिस तरह से तकनीक का विकास हो रहा है उससे बड़े पैमाने पर इंसानी नौकरी के छिन जाने का खतरा मंडरा रहा है। वर्ल्ड इकोनाॅमिक फोरम की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले पांच सालों में विकसित देशों की करीब 51 लाख नौकरियां छिन जाएंगी। 

ये भी पढ़ें - विंटर गेम्स के लिए औली पूरी तरह से तैयार, एक बार फिर से लग सकता है साहसिक खेलों के शौकीनों ...


सिर्फ ड्राइवरलेस कारें दौडेंगी

तकनीक के विकास की वजह से अमेरिका में ड्राइवरलेस कारों का चलन बढ़ता जा रहा है। ‘प्यू’ की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में आधे से ज्यादा लोग यह मानते हैं कि आने वाले 10 साल से 50 साल के अंदर सड़कों पर सिर्फ ड्राइवरलेस कार ही चलेंगे। 

 

Todays Beets: