Thursday, August 24, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

सऊदी अरब की इस ऐप ने बाजार में मचाया तहलका, एक महीने में 30 करोड़ लोग कर चुके हैं डाउनलोड, केवल तीन कर्मचारी मिलकर चलाते हैं यह ऐप कंपनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सऊदी अरब की इस ऐप ने बाजार में मचाया तहलका, एक महीने में 30 करोड़ लोग कर चुके हैं डाउनलोड, केवल तीन कर्मचारी मिलकर चलाते हैं यह ऐप कंपनी

दुबई।

सऊदी अरब की एक मोबाइल एप्लीकेशन ने आते की ऐप बाजार में तहलका मचा दिया है। सराहा नाम की यह ऐप एक महीने पहले ही लांच हुई है और इसे अब तक 30 करोड़ से ज्यादा यूजर्स डाउनलोड कर चुके हैं। इस ऐप की खासियत है कि इससे मैसेज भेजने पर पहचान उजागर नहीं होती और न ही इस ऐप से आए मैसेज का रिप्लाई दिया जा सकता है। यही इस ऐप के हिट होने की सबसे बड़ी वजह है। इसे केवल अपने प्रोफाइल लिंक से जोड़ना होता है और फिर आप मोबाइल में मौजूद किसी भी कांटेक्ट को मैसेज कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें— सफर के दौरान महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी ‘राइडनेस्ट’ एप

जानकारी के अनुसार, इस ऐप को तीन कर्मचारी मिलकर चलाते हैं। इस ऐप के फाउंडर   जेन अल-अबीदीन तौफीक का कहना है कि उन्हें लगता था कि ऐप के यूजर्स की संख्या 1000 तक पहुंचेगी, लेकिन केवल गूगल प्ले स्टोर पर इसका आंकड़ा 50 लाख पार कर चुका है।

ये भी पढ़ें— Facebook live में जल्द ही एड होंगे कुछ नए फीचर, पढ़े पूरी रिपोर्ट...


फिल्टर की है सुविधा

पहचान उजागर न होने पर ऐप के दुरुपयोग के बारे में तौफीक का कहना है कि ऑनलाइन उत्पीड़न, शोषण या बुरा व्यवहार करने से रोकने की भी सख़्त व्यवस्था भी है। ऐप को ब्लॉक या फिल्टर करने की सुविधा भी मौज़ूद है। उन्होंने कहा कि इसका फायदा यह है कि इसके जरिए कंपनी के कर्मचारी अपने बॉस को अपना नाम गुप्त रखते हुए फीडबैक दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें— Whatsapp में आया नया कलरफुल टेक्स्ट फीचर, यूजर्स का फोटो और वीडियो शेयर करना होगा और भी मजेदार

 

Todays Beets: