Thursday, December 14, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

फर्जी आधार एप्स से रहें सावधान, UIDAI  ने जारी की चेतावनी

अंग्वाल संवाददाता
फर्जी आधार एप्स से रहें सावधान, UIDAI  ने जारी की चेतावनी

नई दिल्ली। यूआईडीएआई ने सूचना जारी करते हुए सभी आधार धारकों को फर्जी आधार कार्ड की एप्स से सावधान रहने को कहा है। दरअसल, आधार नंबर से व्यक्तिगत जानकारी उपलब्ध कराने वाली मोबाईल एप विकसित करने बनाने बेंगलुरू निवासी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। विशिष्ट पहचान प्राधिकरण विभाग(UIDAI) ने इसे अनपौचारिक बताते हुए आधार कानून के तहत मामला दर्ज किया है। यूआईडीएआई के मुख्य अधिकारी अजय भूषण पांडे ने इस जानकारी को मीडिया में साझा किया है। साथ ही उन्होंने यूआईडीएआई के डाटाबेस में सेंध लगाने और हैक होने की खबरों का खंडन किया।

यह भी पढ़े- भारत सरकार जल्द ही शुरू करेगी Bike taxi service, नई एप होगी लॉन्च

इस एप के जरिए आधार नंबर की अनुमति देने पर ही व्यक्ति सूचनाएं प्राप्त कर सकता है। यूआईडीएआई के प्रमुख ने बताया कि इस एप से आधार धारक खुद की जानकारी को डाउनलोड कर रहे हैं। बारह अंको वाले आधार नंबर डालने पर यूजर को वन टाइम पासवर्ड मिलता है। जिसे ओटीपी भी कहा जाता है। इसके बाद ही यूजर को सारी जानकारी उपलब्ध होती है। वहीं उन्होंने सभी आधार धारकों की सूचना सुरक्षित होने की बात कही है।


यह भी पढ़े- कैब सर्विस कंपनी UBER ने यात्रियों में भरोसा बढ़ाने के लिए लॉन्च किया यह नया फीचर

अजय भूषण ने कहा कि आधार एक्ट के तहत ऐसे कार्य आपराधिक और दंडनीय मान्य हैं। इसके अलावा उन्होंने आधार धारकों को सलाह देते हुए कहा है कि सरकारी संस्था या यूआईडीएआई से मान्यता प्राप्त संस्था के अलावा किसी अन्य संस्था को आधार नंबर न दें।

Todays Beets: