Monday, October 22, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

राज्य के लोगों और पर्यटकों की बढ़ी मुसीबतें, आज से थम गए कुमाऊं मंडल में 25 हजार टैक्सियों के पहिए 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्य के लोगों और पर्यटकों की बढ़ी मुसीबतें, आज से थम गए कुमाऊं मंडल में 25 हजार टैक्सियों के पहिए 

देहरादून। राज्य के पहाड़ी इलाकों में रहने वालों के साथ ही पर्यटकों की मुसीबतें शुक्रवार से बढ़ सकती हैं। जी हां, अपनी मांगों को लकर कुमाऊं मंडल में टैक्सी मैक्सी का हड़ताल शुरू हो गया है। हड़ताल की वजह से करीब 25 हजार टैक्सियों की रफ्तार पर ब्रेक लग जाएगा। बता दें कि इन टैक्सियों के जरिए रोजाना करीब 1 लाख से ज्यादा लोग सफर करते हैं। टैक्सियों के नहीं चलने से पर्वतीय जिलों में यातायात व्यवस्था ठप होने की आशंका है। बता दें कि अपनी मांगों को लेकर टैक्सी मैक्सी महासंघ के आह्वान पर गढ़वाल में 27 सितंबर से टैक्सी चालक हड़ताल पर हैं। 

गौरतलब है कि गढ़वाल में टैक्सी चालकों की हड़ताल का समर्थन कुमाऊं के टैक्सी चालकों ने भी किया है। उनका कहना है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं लेकिन सरकार किराया नहीं बढ़ा रही है। वहीं दूसरी ओर वाहन मालिकों से ग्रीन कार्ड के नाम पर वसूली की जा रही है। 

ये भी पढ़ें - भाजपा विधायक ने लव जेहाद के बदले लव क्रांति सेना बनाने की अपील, सीएम भी उतरे समर्थन में


यहां बता दें कि ओवर लोडिंग में ड्राइवर का लाइसेंस निरस्तीकरण, जुर्माना और मुकदमा होता है। टैक्सी चालकों का कहना है कि एक गलती की तीन-तीन सजाएं देकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। सड़क हादसा होने पर चालक और वाहन स्वामी दोनों पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। स्पीड गर्वनर के नाम पर भी चालकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। इसके विरोध में कुमाऊं में टैक्सी मैक्सी की हड़ताल की जा रही है। 

 

Todays Beets: