Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

नए सत्र में काॅलेजों में नहीं होगी प्राध्यापकों की दिक्कत, 253 संविदा शिक्षकों को मिला सेवा विस्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए सत्र में काॅलेजों में नहीं होगी प्राध्यापकों की दिक्कत, 253 संविदा शिक्षकों को मिला सेवा विस्तार

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश के डिग्री काॅलेजों में संविदा के आधार पर अपनी सेवाएं देने वाले प्राध्यापकों  को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने इन्हें अगले शिक्षा सत्र तक के लिए सेवा विस्तार देने का ऐलान किया है। इससे करीब 250 से ज्यादा शिक्षकों को फायदा होगा। इन शिक्षकों को सेवा विस्तार मिलने से काॅलेजों को शिक्षकों की कमी से नहीं जूझना पड़ेगा। बता दें कि राज्य की उच्च शिक्षा में सुधार लाने के मकसद से शिक्षकों को संविदा के आधार पर नियुक्ति दी गई थी। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड के सरकारी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों की भारी कमी है और इस कमी को पूरा करने के लिए सरकार की तरफ से पूरी कोशिश की जा रही है। राज्य के दूरदराज के सरकारी डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों की कमी दूर करने को सरकार ने संविदा शिक्षकों की नियुक्ति की है। इन शिक्षकों की नियुक्ति यूजीसी के नए नियमों के मुताबिक की गई है। 


ये भी पढ़ें - उपभोक्ताओं को लग सकता है बिजली का झटका, उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग नई दरों पर लगाएगा मुहर

बता दें कि छात्रों के पठन-पाठन को दुरुस्त करने में योगदान दे रहे इन शिक्षकों को सरकार ने बड़ी राहत दी है। उन्हें शैक्षिक सत्र 2018-19 के लिए संविदा अवधि बढ़ाई गई है। इस संबंध में अपर सचिव अशोक कुमार ने आदेश जारी किए हैं। यहां गौर करने वाली बात है कि अप्रैल से नए शिक्षा सत्र की शुरुआत हो रही है और ऐसे में स्कूलों और काॅलेजों में शिक्षकों की कमी के चलते छात्रों की शिक्षा पर असर पड़ सकता है। स्कूलों में भी शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए सरकार की तरफ से चयन आयोग जल्द भर्ती शुरू करने का अनुरोध किया गया है।

Todays Beets: