Sunday, January 20, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

नए सत्र में काॅलेजों में नहीं होगी प्राध्यापकों की दिक्कत, 253 संविदा शिक्षकों को मिला सेवा विस्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए सत्र में काॅलेजों में नहीं होगी प्राध्यापकों की दिक्कत, 253 संविदा शिक्षकों को मिला सेवा विस्तार

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश के डिग्री काॅलेजों में संविदा के आधार पर अपनी सेवाएं देने वाले प्राध्यापकों  को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने इन्हें अगले शिक्षा सत्र तक के लिए सेवा विस्तार देने का ऐलान किया है। इससे करीब 250 से ज्यादा शिक्षकों को फायदा होगा। इन शिक्षकों को सेवा विस्तार मिलने से काॅलेजों को शिक्षकों की कमी से नहीं जूझना पड़ेगा। बता दें कि राज्य की उच्च शिक्षा में सुधार लाने के मकसद से शिक्षकों को संविदा के आधार पर नियुक्ति दी गई थी। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड के सरकारी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों की भारी कमी है और इस कमी को पूरा करने के लिए सरकार की तरफ से पूरी कोशिश की जा रही है। राज्य के दूरदराज के सरकारी डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों की कमी दूर करने को सरकार ने संविदा शिक्षकों की नियुक्ति की है। इन शिक्षकों की नियुक्ति यूजीसी के नए नियमों के मुताबिक की गई है। 


ये भी पढ़ें - उपभोक्ताओं को लग सकता है बिजली का झटका, उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग नई दरों पर लगाएगा मुहर

बता दें कि छात्रों के पठन-पाठन को दुरुस्त करने में योगदान दे रहे इन शिक्षकों को सरकार ने बड़ी राहत दी है। उन्हें शैक्षिक सत्र 2018-19 के लिए संविदा अवधि बढ़ाई गई है। इस संबंध में अपर सचिव अशोक कुमार ने आदेश जारी किए हैं। यहां गौर करने वाली बात है कि अप्रैल से नए शिक्षा सत्र की शुरुआत हो रही है और ऐसे में स्कूलों और काॅलेजों में शिक्षकों की कमी के चलते छात्रों की शिक्षा पर असर पड़ सकता है। स्कूलों में भी शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए सरकार की तरफ से चयन आयोग जल्द भर्ती शुरू करने का अनुरोध किया गया है।

Todays Beets: