Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

डा. माधुरी बड़थ्वाल को मिला नारी शक्ति पुरस्कार 2019 , आकाशवाणी की पहली महिला संगीत निर्देशक भी रही हैं

अंग्वाल संवाददाता
डा. माधुरी बड़थ्वाल को मिला नारी शक्ति पुरस्कार 2019 , आकाशवाणी की पहली महिला संगीत निर्देशक भी रही हैं

नई दिल्ली/देहरादून । महिला दिवस के अवसर पर अलग-अलग तरह के उल्लेखनीय कार्य करने वाली देश की 40 से अधिक महिलाओं को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा। इन महिलाओं में उत्तराखंड की लोकगाथाओं पर शोध संस्थान कहे जाने वाली और आकाशवाणी की पहली महिला संगीत निर्देशक  डॉ. माधुरी बड़थ्वाल को भी इस पुरस्कार से नवाजा गया । आकाशवाणी में 32 साल सेवा देने के बाद डॉ. माधुरी बड़थ्वाल ने अपनी लोक संस्कृति और लोकगीतों को आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाने का काम कर रही हैं।

बता दें कि 19 मार्च 1953 को जन्मी  डॉ. माधुरी बड़थ्वाल को यूं तो संगीत विरासत में मिला। उनके पिता गायक एवं सितारवादक पिता चंद्रमणि उनियाल ही अपनी बेटी के प्रारंभिक गुरू बने। हालांकि बाद में डॉक्टर माधुरी ने प्रयाग संगीत समिति से विधिवत संगीत की शिक्षा ली। महज ढाई साल की आयु में लोकसंगीत के प्रति उनका लगाव ऐसा हुआ कि उन्होंने इसी में अपना पूरा जीवन लगा दिया ।

वह पिछले 5 दशकों से लोकगीतों के संरक्षण और संवर्धन मे शिद्दत से जुटी हुईं है। इस दौरान उन्होंने उत्तराखंड में घूम घूमकर लोककला और विधाओं के संरक्षण में अपनी अहम भूमिका निभाई। इतना ही नहीं उन्होंने कई प्रतिभाशाली कलाकारों को लोकसंगीत का प्रशिक्षण भी दिया।


वह भारत की पहली ऐसी महिला बनीं , जिन्होंने आकाशवाणी में बतौर पहली महिला म्यूजिक कंपोजर का खिताब हासिल किया।

 

Todays Beets: