Monday, March 25, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

उत्तराखंड में नेता-विधायक-IAS अफसर शहीदों के परिजनों को देंगे आर्थिक मदद , विधायक एक माह तो अफसर एक दिन की सैलरी देंगे

अंग्वाल संवाददाता
उत्तराखंड में नेता-विधायक-IAS अफसर शहीदों के परिजनों को देंगे आर्थिक मदद , विधायक एक माह तो अफसर एक दिन की सैलरी देंगे

देहरादून । जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए जाबाजों के लिए राज्य की सरकार ने मदद के हाथ बढ़ाए हैं। विधानसभा में शुक्रवार को हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद निर्णय लिया गया कि प्रदेश के राजनेता शहीदों के परिजनों को आर्थिक मदद करेंगे। इसके साथ ही सभी विधायक अपनी एक माह की सैलरी शहीदों के परिजनों को देंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है। इसी क्रम में भाजपा के रूड़की से विधायक प्रदीप बत्रा ने तो अपने छह माह का वेतन शहीदों के परिजनों को देने का ऐलान किया । इसके साथ ही प्रदेश के आईएएस अफसरों ने भी अपना एक दिन का वेतन शहीद परिजनों को देना का ऐलान किया है। 

 


पुलवामा हमला- उत्तराखंड के मोहनलाल रतूड़ी और वीरेंद्र राणा ने भी दिया सर्वोच्च बलिदान , अंतिम संस्कार के लिए शवों का इंतजार

बता दें कि उत्तराखण्ड विधानसभा में शुक्रवार को बजट सदन में पेश होना था लेकिन देश में सबसे बड़ी आतंकी घटना के चलते इस सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इस दौरान विधानसभा में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया, जिसमें सत्तारूढ़ दल के साथ ही विपक्ष के नेताओं ने भी शिरकत की। इस श्रद्धांजलि सभा के बाद निर्णय लिया गया कि प्रदेश के राजनेता शहीदों के परिजनों को आर्थिक मदद देंगे। इस दौरान साफ किया गया कि प्रदेश के सभी विधायक अपना एक महीने का वेतन शहीदों के परिजनों को देंगे। सीएम रावत ने इस बात की जानकारी दी है।

इसी क्रम में प्रदेश के आईएएस अफसरों ने भी अपनी एक दिन की सैलरी शहीदों के परिजनों की आर्थिक मदद के लिए देने का ऐलान किया है। उत्तराखण्ड आईएएस एसोसिएशन के अध्यक्ष रणवीर सिंह ने इसकी चिट्ठी भी जारी की जिसमें पूरी रकम सीआरपीएफ मुख्यालय को भेजे जाने का उल्लेख किया गया है। 

Todays Beets: