Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

हरिद्वार के डीएम दीपक रावत को हटाने की मांग, विपक्ष आबकारी मंत्री के इस्तीफे पर अड़ा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरिद्वार के डीएम दीपक रावत को हटाने की मांग, विपक्ष आबकारी मंत्री के इस्तीफे पर अड़ा

देहरादून । उत्तराखंड विधानसभा के बजट सत्र का दूसरा दिन भी हंगामेदार रहा। विपक्षी दलों के विधायकों ने एक बार फिर से आबकारी मंत्री का इस्तीफा मांगा। वहीं विपक्ष ने सहारनपुर और हरिद्वार में जहरीली शराब से हुई मौत के मुद्दे को उठाते हुए एक बार फिर से सदन का वॉकआउट किया। इसके साथ ही उत्तराखंड के बहुचर्चित आईएएस और हरिद्वार के डीएम दीपक रावत के खिलाफ भी कार्यवाही किए जाने की मांग की है। 


बता दें कि सदन में बजट सत्र के दौरान दूसरे दिन सदन में नेता विपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने जहरीली शराब का मुद्दा उठाते हुए सरकार पर हल्ला बोला। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश में अफसरशाही बेलगाम हो चुकी है। प्रदेश में अवैध शराब का पूरा कारोबार चल रहा है , लेकिन सरकार सोई रही। इसी करण में विधायक करण मेहरा ने कहा कि जो अधिकारी दर्जन भर पव्वों के साथ फोटो खिंचवा रहे हैं, वो उस समय कहा था जब जहरीली शराब का धंधा फल फूल रहा था। 

Todays Beets: