Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

गंगा को प्रदूषण मुक्त करने में अनियमितता आई सामने, 3 अभियंताओं पर गिरी गाज   

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गंगा को प्रदूषण मुक्त करने में अनियमितता आई सामने, 3 अभियंताओं पर गिरी गाज   

देहरादून। गंगा की सफाई को लेकर काम करने वाली मशीनरी अब हरकत में आ गई है। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सख्त निर्देश के बाद राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के अधिकारियों के निरीक्षण में हरिद्वार में चल रही सीवरेज योजनाओं में अनियमितताएं सामने आने के बाद तीन अभियंताओं पर गाज भी गिरी है। इसके बाद उत्तराखंड सरकार ने जल संस्थान हरिद्वार के सहायक अभियंता अब्दुल रशीद को निलंबित कर दिया, जबकि उपनल के जरिए कार्यरत कनिष्ठ अभियंता रवि कुमार को कार्यमुक्त कर दिया गया है। यही नहीं, जल संस्थान हरिद्वार के प्रभारी अधिशासी अभियंता अजय कुमार को भी आरोपपत्र थमाया गया है। 

केन्द्रीय मंत्री की नाराजगी

गौरतलब है कि गंगा सफाई में अनियमितता बरतने के आरोप में जगजीतपुर एसटीपी से संबंधित ठेकेदार कंपनी मैसर्स यूपीईईएल कांट्रेक्टर इंजीनियर का अनुबंध समाप्त कर इसे ब्लैक लिस्ट करने के आदेश दिए गए हैं। बता दें कि केन्द्रीय मंत्री ने गंगा की सफाई के लिए की जा रही कोशिशों के बावजूद नालों के गंगा में गिरने के प्रति नाराजगी व्यवक्त की थी। मंत्री ने काम करने वाल संस्था को साफ कह दिया है कि गंगा में गंदगी किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही नाले टैप करने के मद्देनजर जल्द डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए हैं। 


ये भी पढ़ें - राज्य में दोहरी पुलिस व्यवस्था होगी खत्म, हाईकोर्ट ने सरकार को दिए निर्देश

प्रभारी सचिव पेयजल अरविंद ह्यांकी की ओर से जल संस्थान के मुख्य महाप्रबंधक को पत्र भेजकर हरिद्वार में उपनल के माध्यम से तैनात कनिष्ठ अभियंता रवि कुमार को कार्यमुक्त कर उपनल को अवमुक्त करने के निर्देश दिए।  

Todays Beets: