Monday, November 19, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

 एक बार फिर से राज्य में शुरू होंगे साहसिक पर्यटन, सरकार ने जारी की नई नियमावली

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 एक बार फिर से राज्य में शुरू होंगे साहसिक पर्यटन, सरकार ने जारी की नई नियमावली

देहरादून। साहसिक पर्यटन में दिलचस्पी रखने वालों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश में जल्द यह खेल एक बार फिर से शुरू होने वाला है। राज्य के पर्यटन विभाग ने उत्तराखंड रिवर रॉफ्टिंग क्याकिंग(संशोधन) नियमावली 2018 व फुट लांच एयरो स्पोर्ट्स(पैरा ग्लाइडिंग सहित) नियमावली 2018 को जारी कर दिया है। नई नियमावली के जारी होने से हाईकोर्ट द्वारा राफ्टिंग पर लगाए गए प्रतिबंध को दूर किया जा सकेगा। प्रदेश के युवाओं का ख्याल रखते हुए नई नियमावली में राफ्टिंग कारोबार का संचालन स्थानीय लोगों को ही देने का प्रावधान किया गया है।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने कुछ समय पहले राफ्टिंग की वजह से नदियों को नुकसान हो रहा था। इस वजह से इस पर रोक लगा दी गई थी। नई नियमावली में हर नदी में विशेष अभियानों को मंजूरी देने का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही राफ्ट को ढोने वाली गाड़ियों को नदियों के किनारे से 100 मीटर दूर ही रोकने को कहा गया है। 

ये भी पढ़ें - अब सप्ताह के सातों दिन यात्री कर सकेंगे हवाई यात्रा, हाईकोर्ट ने एयर इंडिया को दिया आदेश


यहां बता दें कि सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर की ओर से नई व संशोधित नियमावली को जारी करते हुए कहा गया है कि रॉफ्टिंग तकनीकी समिति नदियों के दोनों किनारों पर रॉफ्टों को नदी में उतारने व निकालने वाले स्थानों का चिन्हीकरण करेगी। इसके साथ ही हर राफ्ट आॅपरेटर को राफ्टिंग की दर को अपने स्वागत कक्ष, वेबसाइट और ब्रोशर में अनिवार्य रूप से दिखाना होगा। रॉफ्टिंग के दौरान पर्यटकों को नशे की हालत में रॉफ्टिंग कराना, पूरी तरह प्रतिबंधित होगा।

गौर करने वाली पैराग्लाइडिंग को लेकर नई नियमावली में और सख्त प्रावधान किया गया है। इसमें पैराग्लाइडिंग संचालकों की शैक्षणिक योग्यता का निर्धारण केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों के अनुरूप ही किया जाना है। इसके साथ ही नई समिति नए पैराग्लाइडिंग स्थानों की भी पहचान करेगी।  

Todays Beets: