Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

एएचपीसीएल ने 11 कर्मचारियों को किया बर्खास्त, नाराज कर्मचारी मिक्सर मशीन पर चढ़े

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एएचपीसीएल ने 11 कर्मचारियों को किया बर्खास्त, नाराज कर्मचारी मिक्सर मशीन पर चढ़े

देहरादून। श्रीनगर जल विद्युत परियोजना का संचालन करने वाली एएचपीसीएल (अलकनंदा हाइड्रो पावर काॅरपोरेशन लिमिटेड) ने अनुशासनहीनता के आरोप में 11 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। कंपनी की इस कार्रवाई से नाराज कर्मचारी शुक्रवार को बंद पड़ी मिक्सर मशीन पर चढ़ गए। बता दें कि मामले की जानकारी मिलने के बाद एसडीएम कीर्तिनगर अनुराधा पाल ने परियोजना समन्वयक और बर्खास्त कर्मचारियों को वार्ता के लिए बुलाया लेकिन कर्मचारी उसमें शामिल नहीं हुए। गौर करने वाली बात है कि एएचपीसीएल के कर्मचारी डीए और एरियर के भुगतान को लेकर धरना प्रदर्शन किया था।

गौरतलब है कि कर्मचारियों के धरना प्रदर्शन के बाद एएचपीसीएल कंपनी ने अनुशासनहीनता के आरोप में 3 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया था और 11 को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इन तीनों कर्मचारियों को पिछले साल सितंबर में बर्खास्त कर दिया था। अब नए साल में कंपनी ने 11 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है।

ये भी पढ़ें - ऊधमसिंह नगर में लगेगा पहला फ्लोटिंग सोलर प्लांट, प्रदेश में बिजली की कमी होगी दूर


यहां बता दें कि कंपनी के रवैये से नाराज कर्मचारी बंद पड़ी मिक्सर मशीन पर चढ़ गए। कर्मचारियों ने कहा कि कंपनी अपने लिखित अनुबंध से मुकर रही है और एकतरफा कार्रवाई कर रही है। कर्मचारियों ने कहा कि ऊर्जा सचिव ने कंपनी को अनुबंध के अनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। इन स्थानीय कर्मचारियों ने कहा कंपनी लोगों पर अपनी मनमानी थोप रही है। 

Todays Beets: