Wednesday, March 27, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

एएचपीसीएल ने 11 कर्मचारियों को किया बर्खास्त, नाराज कर्मचारी मिक्सर मशीन पर चढ़े

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एएचपीसीएल ने 11 कर्मचारियों को किया बर्खास्त, नाराज कर्मचारी मिक्सर मशीन पर चढ़े

देहरादून। श्रीनगर जल विद्युत परियोजना का संचालन करने वाली एएचपीसीएल (अलकनंदा हाइड्रो पावर काॅरपोरेशन लिमिटेड) ने अनुशासनहीनता के आरोप में 11 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। कंपनी की इस कार्रवाई से नाराज कर्मचारी शुक्रवार को बंद पड़ी मिक्सर मशीन पर चढ़ गए। बता दें कि मामले की जानकारी मिलने के बाद एसडीएम कीर्तिनगर अनुराधा पाल ने परियोजना समन्वयक और बर्खास्त कर्मचारियों को वार्ता के लिए बुलाया लेकिन कर्मचारी उसमें शामिल नहीं हुए। गौर करने वाली बात है कि एएचपीसीएल के कर्मचारी डीए और एरियर के भुगतान को लेकर धरना प्रदर्शन किया था।

गौरतलब है कि कर्मचारियों के धरना प्रदर्शन के बाद एएचपीसीएल कंपनी ने अनुशासनहीनता के आरोप में 3 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया था और 11 को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इन तीनों कर्मचारियों को पिछले साल सितंबर में बर्खास्त कर दिया था। अब नए साल में कंपनी ने 11 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है।

ये भी पढ़ें - ऊधमसिंह नगर में लगेगा पहला फ्लोटिंग सोलर प्लांट, प्रदेश में बिजली की कमी होगी दूर


यहां बता दें कि कंपनी के रवैये से नाराज कर्मचारी बंद पड़ी मिक्सर मशीन पर चढ़ गए। कर्मचारियों ने कहा कि कंपनी अपने लिखित अनुबंध से मुकर रही है और एकतरफा कार्रवाई कर रही है। कर्मचारियों ने कहा कि ऊर्जा सचिव ने कंपनी को अनुबंध के अनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। इन स्थानीय कर्मचारियों ने कहा कंपनी लोगों पर अपनी मनमानी थोप रही है। 

Todays Beets: