Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

दून के ‘पवन’ जर्मनी में विरोधियों को जड़ेंगे पंच, अंतरराष्ट्रीय यूथ बाॅक्सिंग चैम्पियनशिप में करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दून के ‘पवन’ जर्मनी में विरोधियों को जड़ेंगे पंच, अंतरराष्ट्रीय यूथ बाॅक्सिंग चैम्पियनशिप में करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व

देहरादून। उत्तराखंड के खिलाड़ियों ने अपने हुनर का जलवा तकरीबन हर स्तर पर दिखाया है। प्रदेश के उभरते हुए मुक्केबाज पवन गुरुंग अब जर्मनी में अपने पंच से विरोधी मुक्केबाजों को धूल चटाते हुए नजर आएंगे। पवन गुरुंग जर्मनी में 23 से 27 मई तक आयोजित होने वाले 5 दिवसीय ट्रेनिंग कम अंतरराष्ट्रीय यूथ बाॅक्सिंग चैम्पियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। गौर करने वाली बात है कि पवन को एशियन चैम्प्यिनशिप में खेलने का मौका नहीं मिला था। 

गौरतलब है कि महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में कक्षा 12वीं के छात्र पवन गुरुंग का अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम में चयन हो गया है। मार्च में रोहतक में हुई नेशनल यूथ बॉक्सिंग चैंपियनशिप में 56 किग्रा भार वर्ग में खेलते हुए पवन ने रजत पदक जीता था। कैंप में बेस्ट अचीवर रहे पवन को 23 से 27 मई तक जर्मनी में होने वाली अंतरराष्ट्रीय ट्रेनिंग कम यूथ बॉक्सिंग चैंपियनशिप के लिए इंडिया टीम में जगह दी गई है। 

ये भी पढ़ें - तबादला आदेश निरस्त करने के खिलाफ मंत्री के घर धरने पर बैठे शिक्षक, मिला आश्वासन  


यहां बता दें कि इससे पहले वे यूथ वर्ग में ही पिछले साल कजाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप खेल चुके हैं जबकि जूनियर वर्ग में वे रूस में आयोजित विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप खेलने वाले उत्तराखंड के पहले मुक्केबाज हैं। पवन के कोच ललित कुंवर व पिता नरेश गुरुंग ने बताया कि पवन लगातार स्टेट चैंपियन रहे हैं। इस साल नेशनल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने से चूक गए जिसकी वजह से उन्हें यूथ एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप खेलने का मौका नहीं मिला।

 

Todays Beets: