Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

रुड़की में 50 सवारियों से भरी बस आई हाईटेंशन तार की चपेट में, सीएम ने दिया जूनियर इंजीनियर को तत्काल निलंबित करने का आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रुड़की में 50 सवारियों से भरी बस आई हाईटेंशन तार की चपेट में, सीएम ने दिया जूनियर इंजीनियर को तत्काल निलंबित करने का आदेश

रुड़की। उत्तराखंड के रुड़की में मंगलवार की सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। कलियर में एक सवारियों से भरी बस में आग लग गई जिसमें आधा दर्जन से ज्यादा यात्री झुलस गए हैं। बताया जा रहा है कि 50 कर्मचारियों को लेकर इनायतपुर से सिडकुल जा रही एक कंपनी की बस अचानक ही हाईटेंशन तार की चपेट में आ गई। हाईटेंशन तार के बस को छूते ही उसमें करंट फैल गया और सवारियों में अफरा-तफरी मच गई। करंट फैलने की वजह से लगी आग में बुरी तरह से झुलसे एक की हालत गंभीर बनी हुई है। घायलों को रुड़की के सिविल अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने घटना का संज्ञान लेते हुए सम्बन्धित जूनियर इंजीनियर को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने घटना की जांच हेतु मुख्य अभियन्ता की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठन करने तथा घायलों के उचित उपचार की व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। 

गौरतलब है कि हरिद्वार स्थित एल्प्स कंपनी की बस हर रोज कर्मचारियों को लाने के लिए कलियर जाती है। मंगलवार की सुबह भी बस अलग-अलग गांवों से महिला और पुरुष कर्मचारियों को लाने जा रही थी। इनायतपुर से सिडकुल जाते हुए बस हद्दीवाला के करीब हाईटेंशन तार से टकरा गई और उसमें आग लग गई। बस में करंट फैलते ही सवारियों में अफरा-तफरी मच गई और लोगों को बाहर निकलने का मौका नहीं मिल पाया।

ये भी पढ़ें - विपक्ष के भारी हंगामे के बीच सरकार का आश्वासन, जल्द नियुक्त होंगे लोकायुक्त


यहां बता दें कि स्थानीय लोगों का कहना है कि 6 से ज्यादा लोग बुरी तरह से झुलस गए हैं। इनमें से एक की हालत काफी गंभीर है। रुड़की के सिविल अस्पताल में भर्ती कराने के बाद उसे हायर सेंटर में रेफर कर दिया गया है। बस में करंट की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण वहां जमा हो गए। 

गौर करने वाली बात है कि मौके पर इकट्ठे हुए आक्रोशित ग्रामीणों ने बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों का कहना था कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ है। उनका कहना है कि इस इलाके में कई दिनों से हाईटेंशन तार नीचे लटक रहा है लेकिन बिजली विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। नाराज ग्रामीणों ने दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।  

Todays Beets: