Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

केदारनाथ में प्रसाद की थाली में चौलाई का लड्डू होना अनिवार्य, दुकानों में माल्टा और बुरांश का जूस नहीं रखने पर होगी कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केदारनाथ में प्रसाद की थाली में चौलाई का लड्डू होना अनिवार्य, दुकानों में माल्टा और बुरांश का जूस नहीं रखने पर होगी कार्रवाई

केदारनाथ। केदारनाथ धाम यात्रा के दौरान स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की कवायद तेज कर दी गई है। केदारनाथ के दौरे पर गए जिलाधिकारी ने मंदिर में चढ़ाए जाने वाले प्रसाद की थाली में चौलाई के लड्डू का होना अनिवार्य करने के निर्देश दिए हैं इसके साथ ही दुकानों में माल्टा और बुरांश के जूस को रखना अनिवार्य कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा तैयार किए जाने वाले पैकेटों में तो चौलाई के लड्डू दिखाई देते हैं लेकिन मंदिर में चढ़ाने वाली थाली से वो गायब है। इसके साथ बिना हाॅकर के चलने वाले घोड़ों और खच्चरों के मालिकों के लाईसेंस को रद्द कर दिया गया है।

गौरतलब है कि चारधाम यात्रा के दौरान स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा मिलने से राज्य के किसानों को काफी फायदा होगा। बता दें कि जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य के विकास में व्यापारियों को भी सहयोग देना होगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय दुकानांे में माल्टा और बुरांश का जूस नहीं रखने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

ये भी पढ़ें - मोबाइल नहीं तो वोट नहीं, 16 गांवों ने लिया थराली विधानसभा उपचुनाव के बहिष्कार का फैसला


इसके साथ ही बिना हाॅकरों के चलने वाले घोड़ों के मिलने से घोड़ा मालिकों के लाईसेंस को भी रद्द कर दिया है। डीएम ने अपनी निरीक्षण के दौरान केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का भी जायजा लिया है। उन्होंने लोक निर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से यात्रा व्यवस्था की जानकारी ली और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने घोड़ा पड़ाव के पशु चिकित्सालय में साइन बोर्ड लगाने, उरेडा को भैरव गदेरे में विद्युत व्यवस्था स्थापित करने को भी कहा है।  

Todays Beets: