Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

भाजपा और वामपंथी कार्यकर्ता आपस में भिड़े, पुलिस ने जमकर लाठियां फटकारीं 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा और वामपंथी कार्यकर्ता आपस में भिड़े, पुलिस ने जमकर लाठियां फटकारीं 

देहरादून। केरल में हो रहे भाजपा कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न का असर उत्तराखंड में भी देखने को मिल रहा है। इस घटना के विरोध में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने देहरादून में सीपीएम-सीपीआई के कार्यालय तक एक जुलूस निकाला। जुलूस के दौरान दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प बढ़ गई और मामला हाथापाई तक पहुंच गया। विवाद बढ़ता देख पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा।

घायल हुए सीपीएम नेता

गौरतलब है कि केरल में भाजपा के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाए जाने से नाराज कार्यकर्ताओं ने देहरादून में घंटाघर से क्वालिटी चौक होते हुए सीपीएम के दफ्तर तक एक विशाल जुलूस निकाला। जुलूस में भाजपा के कई स्थानीय नेता शामिल थे। सीपीएम कार्यालय पहुंचकर भाजपा कार्यकर्ता दफ्तर में घुसने की कोशिश करने लगे जबकि दूसरी तरफ से सीपीएम के कार्यकर्ता उन्हें रोकने के लिए दम लगाते रहे। इस बीच भीड़ में से किसी ने पत्थर उछाल दिया जिससे सीपीएम के नेता शेर सिंह घायल हो गए। 

ये भी पढ़ें - बच्चों के बाल जबरन काटने से नाराज परिजनों ने की स्कूल में तोड़फोड़, शिक्षिकाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज 


पुलिस ने फटकारी लाठियां

आपको बता दें कि मामले को तूल पकड़ता देखकर पुलिस को बीच में हस्तक्षेप करना पड़ा। पुलिस ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को तितर बितर करने के लिए जमकर लाठियां फटकारीं। मामला शांत होने पर सीपीएम के नेता ने कहा कि उनके जुलूस को पुलिस बीच में ही रोक देती है जबकि भाजपा के कार्यकर्ता दफ्तर में घुसकर तोड़फोड़ करते हैं और पुलिस चुपचाप खड़ी रहती है। नेता ने प्रशासन पर सरकार के एजेंट के रूप में काम करने का आरोप लगाया।   

 

Todays Beets: