Tuesday, December 18, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

कल से शुरू होगा रिस्पना की सफाई का काम, मोबाइल एप भी किया जाएगा लाॅन्च 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कल से शुरू होगा रिस्पना की सफाई का काम, मोबाइल एप भी किया जाएगा लाॅन्च 

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने नदियों की सफाई का कार्रवाई तेज कर दी है। कल यानी कि शुक्रवार से देहरादून शहर के बीच से होकर बहने वाली रिस्पना नदी की सफाई का काम शुरू किया जाएगा। इस मौके पर नदी के किनारे से कचरा हटाने और उसकी सफाई के लिए बंगलुरु से लाई गई वेस्ट मशीन लगाई जाएगी। नदी की सफाई अभियान की शुरुआत के साथ ही एक मोबाइल एप भी लॉन्च किया जाएगा। रिस्पना नदी को पुनर्जीवित करने की जिम्मेदारी ईको टास्क फोर्स को दी गई है। ईको टॉस्क फोर्स के सीओ कर्नल एचआरएस राणा ने कहा कि रिस्पना नदी में मौजूद हजारों टन कचरे को नष्ट करने में वेस्ट मशीन कारगर साबित होगी और इससे नदी को पुनर्जीवित करने में मदद मिलेगी।

टास्क फोर्स को सफाई का जिम्मा


यहां बता दें कि उत्तराखंड में नदियों की बदहाली का मुद्दा एक छात्रा ने पीएम मोदी की मन की बात कार्यक्रम में पहुंचाई थी। पीएम के निर्देश के बाद प्रदेश सरकार ने नदियों में कूड़ा डालने और गंदगी फैलाने वालों पर जुर्माना लगाने की भी बात कही गई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने खुद उसकी सफाई का काम शुरू भी किया था। अब सरकार ने रिस्पना की सफाई के लिए ईको टास्क फोर्स करेगी और इसकी जिम्मेदारी टास्क फोर्स के सीओ कर्नल एचआरएस राणा को सौंपी गई है।  

ये भी पढ़ें - यूओयू में 80 से ज्यादा और 30 से कम नंबर लाने वालों की काॅपियों की होगी दोबारा जांच, कुलपति स्...

Todays Beets: