Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

सड़क हादसों पर सीएम का अजीबोगरीब बयान, कहा-गड्ढों के लिए डीएम होंगे जिम्मेदार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सड़क हादसों पर सीएम का अजीबोगरीब बयान, कहा-गड्ढों के लिए डीएम होंगे जिम्मेदार

देहरादून। रामनगर इलाके में रविवार को हुई भीषण सड़क दुर्घटना के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सड़कों की स्थिति को लेकर सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने कहा कि सड़कों पर गड्ढों की वजह से होने वाली दुर्घटना के लिए उस जिले के डीएम जिम्मेदार होंगे। सीएम के द्वारा राज्य की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश दे दिए गए हैं। जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वह लोक निर्माण विभाग को आपदा मद से इसके लिए बजट मुहैया कराएं।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने कहा कि रामनगर में हुए सड़क हादसे के बाद सरकार सड़कों को लेकर काफी गंभीर है। सड़कों पर गड्ढों की वजह से अब हादसा न हो, इसके लिए जिलाधिकारियों को आपदा मद से 5-5 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। इसके साथ ही धुमाकोट हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई भी होगी। 

ये भी पढ़ें - निलंबित शिक्षिका के मामले में हरक सिंह ने दी मंत्री और अधिकारी को नसीहत, कहा-मर्यादा में रहकर...


यहां बता दें कि राज्य में आपदा से निपटने को सरकार ने 10 हजार स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित किया है। इसके लिए स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण देकर स्वयं सेवक के रूप में तैयार किया गया है। मुख्यमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि मानसून में होने वाली आपदा की घटनाओं पर भी सरकार गंभीर है। राज्य में आपदा की घटनाओं से निपटने के लिए 3 हेलीकाॅप्टर 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे। मरीजों के लिए हैली एंबूलेंस की व्यवस्था को कैसे बेहतर बनाया जाए इस पर विचार किया जा रहा है। 

Todays Beets: