Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

आप कहीं भ्रष्टाचार देखें तो सरकार को बताएं , ऐसे तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा – CM  त्रिवेंद्र सिंह रावत

अंग्वाल संवाददाता
आप कहीं भ्रष्टाचार देखें तो सरकार को बताएं , ऐसे तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा – CM  त्रिवेंद्र सिंह रावत

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवा को देहरदून के परेड़ ग्राउंड में “युवा उत्तराखण्ड-उद्यमिता एवं स्वरोजगार की ओर” कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में 50 प्रमुख उद्यमियों ने राज्य के युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया। युवाओं की काउंसिलिंग कर रोजगार से जोड़ने में मदद की गई। इतना ही नहीं स्वंय का बिजनेस स्थापित करने के इच्छुक युवाओं का भी मार्गदर्शन किया गया। इस कार्यक्रम से प्रदेश से करीब 10 हजार युवा जुड़े। प्रदेश के 52 डिग्री कॉलेजों व विश्वविद्यालयों के छात्र भी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़े । इस दौरान सीएम ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए युवाओं को आगे आना होगा । प्रदेश में पर्यटन बढ़ रहा है, लेकिन इसे रोजगार में तब्दील करने में युवाओं को खासी भूमिका निभानी होगी । उन्होंने कहा कि प्रदेश में अगर आप भ्रष्टाचार का कोई मामला देखते हैं तो सरकार को बताएं, ऐसे तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा।

चमोली के गौचर को मिला सबसे स्वच्छ गंगा टाउन का खिताब

एडवेंचर टूरिज्मम पर फोकस

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में लगातार पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन पुराने पर्यटन स्थलों के बजाए अब हमें नए नए पर्यटन स्थलों का विकास करना होगा। सरकार इस ओर आगे बढ़ रही है। प्रदेश में थीम बेस्ड 13 डिस्ट्रीक्ट 13 न्यू डेस्टीनेशन विकसित किए जा रहे हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि हाई एंड टूरिस्ट राज्य में आएं। एडवेंचर टूरिज्म, वाटर स्पोर्ट्स, पर्वतारोहण, विंटर स्पोर्ट्स पर फोकस किया जा रहा है।

ऋषिकेश में दिल्ली के श्रद्धालुओं पर हाथी का हमला , एक की मौत, भगदड़ में कुछ घायल


पलायन रोकने पर होगा काम

इस दौरान एक संवाद कार्यक्रम के तहत पौड़ी की एक छात्रा इंदू उनियाल ने पूछा कि पलायन आयोग की रिपोर्ट पर सरकार ने क्या किया है।इसके जवाब में सीएम बोले - पलायन आयोग की रिपोर्ट से हमारे पास यह जानकारी आ गई है कि किस गांव से कितना पलायन हुआ और इसका क्या कारण था। यहां तक कि किस गांव में क्या स्थानीय संसाधन उपलब्ध हैं। इसी रिपोर्ट के आधार पर ग्रोथ सेंटर की परिकल्पना पर काम किया जा रहा है। शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार पर खासतौर पर फोकस किया जा रहा है।

रोजगार के अवसर पैदा हुए

इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन और सहयोग से, राज्य के युवाओ को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने कि दिशा मे भी नये कीर्तिमान स्थापित हुए हैं। उत्तराखण्ड में पहली बार 7, 8 अक्टूबर, 2018 को आयोजित इन्वेस्टर्स समिट ने रोजगार के अनगिनत अवसरों के द्वार खोल दिये। मार्च, 2019 तक साढ़े बारह हजार करोड़ रुपए के निवेश प्रोजेक्ट धरातल पर उतर रहे हैं। प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण और संसाधनों से भरपूर राज्य उत्तराखण्ड मे अवसरों के असंख्य भण्डार मौजूद है। इससे उत्साहित होकर सैकड़ों निवेशकों ने उत्तराखण्ड में रुचि ली। 

Todays Beets: