Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

नौकरी दिलाने के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा, बेचारे मजदूर अब बिना पैसे हो रहे परेशान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नौकरी दिलाने के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा, बेचारे मजदूर अब बिना पैसे हो रहे परेशान

हरिद्वार। हरिद्वार में नौकरी दिलाने के नाम पर एजेंट और ठेकेदार की मिलीभगत से बड़े फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ है। इस फर्जीवाड़े में बिहार से आए करीब 500 लोगों को फर्जी नियुक्तिपत्र देकर हरिद्वार के सिडकुल भेज दिया गया। लोगों को फर्जी नियुक्तिपत्र का पता हरिद्वार आकर लगा जब कंपनी ने उन्हें नौकरी देने से मना कर दिया। इन लोगों से  खाते और पेटीएम के माध्यम से इन लोगों से एक हजार से लेकर 10 हजार रुपये तक लिए गए हैं।

बिना पैसे के परेशान 

गौरतलब है कि उत्तराखंड में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ऐसे में ये लोग यहां ठंड में अपनी रातें बिताने पर मजबूर हैं क्योंकि इनमें से ज्यादातर लोगों के पास बिहार वापस जाने के लिए पैसे भी नहीं हैं।  इनका आरोप है कि बिहार में सरैया जगवालिया निवासी दो ठेकेदारों ने नौकरी देने के नाम बिहार के अलग-अलग क्षेत्रों में रहने वाले सैकड़ों लोगों से रुपये वसूले हैं। खाते और पेटीएम के माध्यम से इन लोगों से एक हजार से लेकर 10 हजार रुपये तक लिए गए हैं।

ये भी पढ़ें - राज्य की शिक्षा व्यवस्था में आएगा सुधार, अब छात्रों ही नहीं शिक्षकों का भी रिपोर्ट कार्ड होगा तैयार


नौकरी के नाम पर ठगी 

यहां  बता दें कि बिहार के अलग-अलग क्षेत्रों से यह लोग समूह में 3, 5 व 6 जनवरी को हरिद्वार पहुंचे। नियुक्ति पत्र लेकर जब यह लोग सिडकुल स्थित कंपनी में पहुंचे तो वहां यह जानकर उनके होश उड़ गए कि नियुक्ति पत्र तो फर्जी है। कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि उन्हें किसी ने नौकरी के नाम पर ठग लिया है।

 

Todays Beets: