Monday, May 28, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

नेपाली मजदूर को नाबालिग से दुराचार के मामले में 12 साल की सश्रम कारावास, 10 हजार का जुर्माना भी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नेपाली मजदूर को नाबालिग से दुराचार के मामले में 12 साल की सश्रम कारावास, 10 हजार का जुर्माना भी

देहरादून। एक नाबालिग से दूराचार करने के आरोप में विशेष सत्र न्यायाधीश हीरा सिंह बोनाल की अदालत ने पोक्सो में एक नेपाली मजदूर को 12 साल की कठोर करावास की सजा सुनाई है। सजा के साथ उसे 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। जुर्माने की यह राशि पीड़िता को दिलाई जाएगी। गौर करने वाली बात है कि पिछले साल पिंडर नदी पर पुल के निर्माण के दौरान एक 10 साल की लड़की के साथ 48 साल के एक अधेड़ विजय बहादुर ने दुराचार किया था। बीमार होने के बाद बच्ची ने पिता को घटना के बारे में बताया उसके बाद पिता ने 27 अप्रैल 2017 को कपकोट थाने में तहरीर दी थी। 24 मई 2017 को पोक्सो के तहत मामला दर्ज किया गया। 

यहां बता दें कि पुलिस ने अपना आरोप पत्र न्यायालय को भेजा। जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी आबिद हसन और विशेष लोक अभियोजक खड़क सिंह कार्क ने 14 गवाह अदालत में पेश किए। सभी गवाहो के बयान सुनने के बाद विशेष सत्र न्यायाधीश की अदालत में नेपाली हाल खाती गांव निवासी विजय बहादुर को 12 साल की कठोर करावास की सजा और 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। जुर्माना नहीं देने पर एक साल की अतिरिक्त सजा भी भुगतनी पड़ेगी। 


ये भी पढ़ें - तरला नागल में बनेगा प्रदेश का पहला सिटी पार्क, बच्चों को आकर्षित करने के लिए बनेंगे फूड पार्क 

Todays Beets: