Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

पौड़ी। जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण के मामले में नगीना से समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस को जेल भेज दिया गया है। बता दें कि मनोज पारस पर 4 साल पहले बिजनौर के जिला पंचयात चुनाव के दौरान सदस्यों के अपहरण का आरोप लगाया गया था। अब उन्होंने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, पौड़ी की अदालत में सरेंडर कर दिया। अदालत ने सपा विधायक की जमानत अर्जी खारिज कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। मामले की अगली सुनवाई 17 नवंबर को होगी। 

गैर जमानती वारंट जारी

गौरतलब है कि लक्ष्मणझूला थाने में आरोपी मनोज पारस के खिलाफ बिजनौर के जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण समेत कई धाराओं में केस दर्ज हुआ था। आरोप में कहा गया था कि 17 जनवरी 2013 की रात लक्ष्मणझूला के एक होटल में ठहरे जिला पंचायत सदस्यों के कमरों में घुसकर उनसे मारपीट व गाली-गलौज की गई। बता दें कि इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पौड़ी ने आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे। समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महज 30 मिनट में पहुंच सकेंगे गौरीकुंड से केदारनाथ, रोपवे प्रोजेक्ट को शासन से मंजूरी का इंतजार


पूर्व मंत्रियों ने भी किया सरेंडर

बता दें कि अधिवक्ता जय दर्शन बिष्ट ने बताया कि कोर्ट ने जमानत अर्जी खारिज कर विधायक को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस मामले में उत्तरप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री मूलचंद चैहान, पूर्व सांसद, नगीना, यशवीर धोबी, तत्कालीन जिला पंचायत अध्यक्ष नसरीन सैफी के पति रफी सैफी को भी कोर्ट में सरेंडर करना पड़ा था। 

Todays Beets: