Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

पौड़ी। जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण के मामले में नगीना से समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस को जेल भेज दिया गया है। बता दें कि मनोज पारस पर 4 साल पहले बिजनौर के जिला पंचयात चुनाव के दौरान सदस्यों के अपहरण का आरोप लगाया गया था। अब उन्होंने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, पौड़ी की अदालत में सरेंडर कर दिया। अदालत ने सपा विधायक की जमानत अर्जी खारिज कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। मामले की अगली सुनवाई 17 नवंबर को होगी। 

गैर जमानती वारंट जारी

गौरतलब है कि लक्ष्मणझूला थाने में आरोपी मनोज पारस के खिलाफ बिजनौर के जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण समेत कई धाराओं में केस दर्ज हुआ था। आरोप में कहा गया था कि 17 जनवरी 2013 की रात लक्ष्मणझूला के एक होटल में ठहरे जिला पंचायत सदस्यों के कमरों में घुसकर उनसे मारपीट व गाली-गलौज की गई। बता दें कि इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पौड़ी ने आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे। समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महज 30 मिनट में पहुंच सकेंगे गौरीकुंड से केदारनाथ, रोपवे प्रोजेक्ट को शासन से मंजूरी का इंतजार


पूर्व मंत्रियों ने भी किया सरेंडर

बता दें कि अधिवक्ता जय दर्शन बिष्ट ने बताया कि कोर्ट ने जमानत अर्जी खारिज कर विधायक को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस मामले में उत्तरप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री मूलचंद चैहान, पूर्व सांसद, नगीना, यशवीर धोबी, तत्कालीन जिला पंचायत अध्यक्ष नसरीन सैफी के पति रफी सैफी को भी कोर्ट में सरेंडर करना पड़ा था। 

Todays Beets: