Friday, November 24, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पौड़ी की अदालत ने यूपी के विधायक को भेजा जेल, पंचायत सदस्यों के अपहरण का मामला

पौड़ी। जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण के मामले में नगीना से समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस को जेल भेज दिया गया है। बता दें कि मनोज पारस पर 4 साल पहले बिजनौर के जिला पंचयात चुनाव के दौरान सदस्यों के अपहरण का आरोप लगाया गया था। अब उन्होंने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, पौड़ी की अदालत में सरेंडर कर दिया। अदालत ने सपा विधायक की जमानत अर्जी खारिज कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। मामले की अगली सुनवाई 17 नवंबर को होगी। 

गैर जमानती वारंट जारी

गौरतलब है कि लक्ष्मणझूला थाने में आरोपी मनोज पारस के खिलाफ बिजनौर के जिला पंचायत सदस्यों के अपहरण समेत कई धाराओं में केस दर्ज हुआ था। आरोप में कहा गया था कि 17 जनवरी 2013 की रात लक्ष्मणझूला के एक होटल में ठहरे जिला पंचायत सदस्यों के कमरों में घुसकर उनसे मारपीट व गाली-गलौज की गई। बता दें कि इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पौड़ी ने आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे। समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पारस ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महज 30 मिनट में पहुंच सकेंगे गौरीकुंड से केदारनाथ, रोपवे प्रोजेक्ट को शासन से मंजूरी का इंतजार


पूर्व मंत्रियों ने भी किया सरेंडर

बता दें कि अधिवक्ता जय दर्शन बिष्ट ने बताया कि कोर्ट ने जमानत अर्जी खारिज कर विधायक को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस मामले में उत्तरप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री मूलचंद चैहान, पूर्व सांसद, नगीना, यशवीर धोबी, तत्कालीन जिला पंचायत अध्यक्ष नसरीन सैफी के पति रफी सैफी को भी कोर्ट में सरेंडर करना पड़ा था। 

Todays Beets: