Wednesday, June 20, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

माॅर्चरी में रखी लाश अचानक हो गई जिन्दा, लोगों ने मचाया बवाल, भेल अस्पताल प्रशासन ने दिया जांच का आश्वासन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
माॅर्चरी में रखी लाश अचानक हो गई जिन्दा, लोगों ने मचाया बवाल, भेल अस्पताल प्रशासन ने दिया जांच का आश्वासन

हरिद्वार। हरिद्वार के बीएचईएल (भेल) स्थित अस्पताल में अजीबो-गरीब घटना हुई है। यहां में रखी लाश अचानक जिंदा हो उठी। जैसे ही लाश को माॅर्चरी से बाहर निकाला गया तो उसने न सिर्फ करवट बदली बल्कि उल्टी भी की। यह देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान हैं। शनिवार को जब उनके परिजन शव लेने पहुंचे तो यह देखकर डाॅक्टरों पर हत्या के आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया। उन्होंने सवाल उठाए कि मॉर्चरी में मृत व्यक्ति कैसे उल्टी कर सकता है। भेल अस्पताल के डाॅक्टर भी इस घटना से हैरान हैं। 

जिन्दा व्यक्ति को रखा माॅर्चरी में

गौरतलब है कि शुक्रवार देर रात भेल कर्मचारी कृष्ण कुमार निवासी ज्वालापुर काम करते हुए गिर गया था इसके बाद उन्हें भेल अस्पताल में लाया गया। यहां डॉक्टर ने शुरुआती जांच करने के बाद कृष्ण कुमार को मृत घोषित कर दिया। परिजनों के अनुरोध पर आए सीनियर डाॅक्टर ने भी उन्हें मृत घोषित कर दिया। बता दें कि इस दौरान डाॅक्टरों ने कृष्ण कुमार की दो बार ईसीजी की लेकिन कृष्ण कुमार के शरीर में डाॅक्टरों को उसके जीवित होने के कोई लक्षण नहीं दिखे। इसके बाद कागजी कार्यवाही पूरी होने तक शव लगभग डेढ़ घटे तक स्ट्रेचर पर रखा रहा। 


जांच का आश्वासन

यहां बता दें सभी कार्रवाई पूरी होने के बाद रात के करीब साढ़े 12 बजे घरवालों ने उसके शव को माॅर्चरी में रखवा दिया। शनिवार सुबह जब परिजन शव लेने आए तो शव ने करवट बदली हुई थी और उसने उल्टी कर रखी थी। यह देख परिजन हैरान रह गए और उन्होंने यह कहकर हंगामा खड़ा कर दिया कि जीवित कृष्ण कुमार को मरा हुआ बताकर मॉर्चरी में रखवा दिया गया। लोगों ने भी मौके पर आकर भेल अस्पताल प्रबंधन पर कृष्ण कुमार को मारने का आरोप लगाया। इसके बाद प्रभारी सीएमओ ने मौके पर पहुंचकर प्रकरण की पूरी जांच करवाने का आश्वासन दिया है।

Todays Beets: