Wednesday, September 26, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

माॅर्चरी में रखी लाश अचानक हो गई जिन्दा, लोगों ने मचाया बवाल, भेल अस्पताल प्रशासन ने दिया जांच का आश्वासन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
माॅर्चरी में रखी लाश अचानक हो गई जिन्दा, लोगों ने मचाया बवाल, भेल अस्पताल प्रशासन ने दिया जांच का आश्वासन

हरिद्वार। हरिद्वार के बीएचईएल (भेल) स्थित अस्पताल में अजीबो-गरीब घटना हुई है। यहां में रखी लाश अचानक जिंदा हो उठी। जैसे ही लाश को माॅर्चरी से बाहर निकाला गया तो उसने न सिर्फ करवट बदली बल्कि उल्टी भी की। यह देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान हैं। शनिवार को जब उनके परिजन शव लेने पहुंचे तो यह देखकर डाॅक्टरों पर हत्या के आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया। उन्होंने सवाल उठाए कि मॉर्चरी में मृत व्यक्ति कैसे उल्टी कर सकता है। भेल अस्पताल के डाॅक्टर भी इस घटना से हैरान हैं। 

जिन्दा व्यक्ति को रखा माॅर्चरी में

गौरतलब है कि शुक्रवार देर रात भेल कर्मचारी कृष्ण कुमार निवासी ज्वालापुर काम करते हुए गिर गया था इसके बाद उन्हें भेल अस्पताल में लाया गया। यहां डॉक्टर ने शुरुआती जांच करने के बाद कृष्ण कुमार को मृत घोषित कर दिया। परिजनों के अनुरोध पर आए सीनियर डाॅक्टर ने भी उन्हें मृत घोषित कर दिया। बता दें कि इस दौरान डाॅक्टरों ने कृष्ण कुमार की दो बार ईसीजी की लेकिन कृष्ण कुमार के शरीर में डाॅक्टरों को उसके जीवित होने के कोई लक्षण नहीं दिखे। इसके बाद कागजी कार्यवाही पूरी होने तक शव लगभग डेढ़ घटे तक स्ट्रेचर पर रखा रहा। 


जांच का आश्वासन

यहां बता दें सभी कार्रवाई पूरी होने के बाद रात के करीब साढ़े 12 बजे घरवालों ने उसके शव को माॅर्चरी में रखवा दिया। शनिवार सुबह जब परिजन शव लेने आए तो शव ने करवट बदली हुई थी और उसने उल्टी कर रखी थी। यह देख परिजन हैरान रह गए और उन्होंने यह कहकर हंगामा खड़ा कर दिया कि जीवित कृष्ण कुमार को मरा हुआ बताकर मॉर्चरी में रखवा दिया गया। लोगों ने भी मौके पर आकर भेल अस्पताल प्रबंधन पर कृष्ण कुमार को मारने का आरोप लगाया। इसके बाद प्रभारी सीएमओ ने मौके पर पहुंचकर प्रकरण की पूरी जांच करवाने का आश्वासन दिया है।

Todays Beets: