Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

मामा के केयरटेकर खुशीराम ने अमृता सिंह पर लगाए गंभीर आरोप, कहा-संपत्ति कब्जाना चाहती हैं, जानें और क्या कहा

अंग्वाल संवाददाता
मामा के केयरटेकर खुशीराम ने अमृता सिंह पर लगाए गंभीर आरोप, कहा-संपत्ति कब्जाना चाहती हैं, जानें और क्या कहा

देहरादून । देहरादून के अपने मामा मधुसूदर बिम्बट की क्लेमनटाउन स्थित 24 एकड़ जमीन और घर समेत अन्य संपत्ति को लेकर मुंबई से देवभूमि पहुंची अभिनेत्री अमृता सिंह अपनी बेटी सारा अली खान वापस लौट गई हैं। लेकिन इस मामले को लेकर संपत्ति के केयरटेकर खुशीराम ने अमृता सिंह पर ही संपत्ति पर जबरन कब्जा करने का आरोप लगाया है। खुशीराम ने अभिनेत्री के अपने मामा की संपत्ति पर जबरन घुसने पर उन्होंने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज करवाते हुए कई बातों का खुलासा किया है। उसका कहना है कि मधुसूदन ने भांजी अमृता सिंह और बहन ताहिरा से अपने संबंध तोड़ दिए थे, लेकिन अमृता सिंह इस संपत्ति पर कब्जा करने के लिए ही देहरादून आईं थी। वह इस पैतृक संपत्ति में अपना हिस्सा मांग रही हैं। 

चलिए बताते हैं इस मामले में मधुसूदन ने पुलिस को क्या क्या बताया

-असल में अपने मामा की संपत्ति पर कब्जे की नीयत से ही  मधुसूदन की बहन ताहिरा और भांजी अमृता सिंह ने अविवाहित मधुसूदन की संपत्ति को पाने के लिए सिविल कोर्ट का सहारा लिया था। हालांकि अपने जीते जी मधुसूदन इसके लिए तैयार नहीं थे। 

-सामने आया है कि मधुसूदन के पिता और अमृता सिंह के नाना मदन लाल एयरफोर्स में विंग कमांडर थे, जिनके द्वारा 1963 के आसपास यह संपत्ति खरीदी गई थी। इसमें कई आलीशान हाल और कमरे हैं। 2014 में मां अमृता सिंह की मां आशा बिम्बेट की बीमारी के चलते निधन हो गया था। इसके बाद उनकी करोड़ों की संपत्ति को लेकर विवाद शुरू हुआ ।


-असल में अमृता सिंह के मामला मधुसूदन ने शादी नहीं की थी, वो पेश से लेखक थे। उनके माता-पिता के निधन और उनके कोई औलाद न होने के चलते उनकी करोड़ो की संपत्ति का कोई वारिस नहीं था, जिसके चलते मधुसूदन की बहन और भांजी ने संपत्ति को लेकर अपने-अपने दावे किए। 

-संपत्ति पर अपनी मां का हिस्सा बताते हुए अमृता सिंह और उनकी मौसी ताहिरा ने अपना हक जताया था। इसको लेकर सिविल जज सीनियर डिविजन की अदालत में मामला विचाराधीन है। इसके साथ ही जिलाधिकारी की न्यायालय में भी वाद प्रचलित है। मुकदमों में कोई फैसला आता इससे पहले ही मधुसूदन चल बसे। 

 -मधुसूदन की मौत के बाद देहरादून पहुंची अमृता सिंह अपने बेटी और अन्य रिश्तेदारों के साथ उनकी पैतृक संपत्ति पर पहुंची। अमृता के कोठी पर पहुंचते ही केयर टेकर खुशीराम ने उनपर कब्जा करने का आरोप लगाते हुए क्लेमेंटटाउन थाने में तहरीर दी। इस पर अमृता को भी अपना पक्ष रखने के लिए थाने जाना पड़ा। 

-बहरहाल, अब इस मामले में पुलिस दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद इस संपत्ति पर कोई कब्जा न कर ले, इसको लेकर सजग है। क्योंकि मामला कोर्ट में विचाराधीन है, इसलिए पुलिस अपने स्तर पर कोई कार्रवाई अभी नहीं कर सकती है। 

Todays Beets: