Monday, May 27, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

देहरादून में अब मेजर विभूति नारायण ढौंडियाल के घर छाया मातम, कुछ समय पहले ही हुई थी शादी

अंग्वाल संवाददाता
देहरादून में अब मेजर विभूति नारायण ढौंडियाल के घर छाया मातम, कुछ समय पहले ही हुई थी शादी

देहरादून  । पुलवामा में सोमवार सुबह आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान देहरादून का एक और मेजर शहीद हो गया है। शहीद मेजर विभूति नारायण ढौंड़ियाल देहरादून के चुक्कूवाला के रहने वाले थे। उनकी शहादत की खबर सुनते ही इनके जानने वालों समेत प्रदेश के राजनेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने उनके घर का रुख किया। इस दौरान विधानसभा में भी उनके इस सर्वोच्च बलिदान के लिए श्रद्धांजलि दी गई । मेजर ढौंडियाल की पिछले साल अप्रैल में ही शादी हुई थी। उनके घर में उनकी मां पत्नी व दादी हैं। उनकी तीन बड़ी बहनें भी हैं। घटना की सूचना उनकी पत्नी और परिजनों को तो लग गई है लेकिन मां के हार्ट का मरीज होने के चलते अभी सूचना नहीं दी गई है। 

देहरादून के मेजर विभूती नायारण ढौंढियाल मुठभेड़ में शहीद , मेजर चित्रेश के बाद शहर ने खोया अपना वीर सपूत


बता दें कि मेजर वीएस ढौंडियाल के साथ ही मेरठ, झुनझुनू और रेवाड़ी के तीन अन्य जवान भी शहीद हुए हैं ।  मेजर ढौंडियाल के शहीद होने की खबर मिलने के बाद उत्तराखंड विधानसभा में उन्हें श्रद्धांजली दी गई है। 

मेजर चित्रेश बिष्ट को हरिद्वार में अंतिम विदाई , राजनकीय सम्मान से अंतिम संस्कार

पिछले साल ही मेजर ढौंडियाल की शादी हुई थी, वह तीन बहनों के इकलौते भाई हैं, जबकि उनके पिता का साया उनसे सिर पर पहले उठ गया था। ऐसे में मां और बहनों समेत घर में दादी की जिम्मेदारी उन्हीं के कंधों पर थी। ऐसे में उनकी शहादत की खबर सुनते ही उनकी पत्नी भी बेहाल हैं।

Todays Beets: