Tuesday, January 23, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तराखंड का यह ‘लाल’ देश के बड़े-बड़े खिलाड़ियों को दे रहा चुनौती, रिटायरमेंट की उम्र में शुरू किया करियर 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड का यह ‘लाल’ देश के बड़े-बड़े खिलाड़ियों को दे रहा चुनौती, रिटायरमेंट की उम्र में शुरू किया करियर 

देहरादून।  आमतौर पर जिस उम्र में लोग पावर लिफ्टिंग जैसे खेलों से सन्यास लेने के बारे में सोचते हैं उस उम्र में उत्तराखंड का यह ड्राइवर अपने सपनों को परवान चढ़ा रहा है। जी हां हम बात कर रहे हैं राज्य के स्वास्थ्य महानिदशालय में बतौर ड्राईवर तैनात शहैदा हुसैन काजमी की। इन्होंने पिछले चार-पांच माह में ही कई राष्ट्रीय खिताब अपने नाम कर लिए हैं। अब वह 13 और 14 अगस्त को केरल में होने वाली सीनियर नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में पदक जीतने की तैयारियों में जुटा है।

अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया

गौरतलब है कि शहैदा हुसैन देहरादून के तपोवन नालापानी इलाके के रहने वाले हैं और उन्हें शुरुआत से ही बाॅडी बिल्डिंग और वेट लिफ्टिंग का शौक था लेकिन परिवार और नौकरी की जिम्मेदारियों के कारण वह इसके लिए समय नहीं निकाल पाए। पिछले साल से उन्होंने पावर लिफ्टिंग के लिए समय निकालना शुरू किया। उनकी मेहनत और लगन को देखकर विभाग ने भी शहैदा को शाम को दो घंटे अभ्यास करने की छूट दी। इसके बाद शहैदा ने पूरे तन-मन से अभ्यास किया और  दो प्रतियोगिताओं में 4 गोल्ड मेडल जीतकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। यहां आपको बता दें कि वह पिछले दो सालों से पावर लिफ्टिंग में लगातार स्टेट चैंपियनशिप का खिताब जीत रहे हैं।

ये भी पढ़ें -  अब प्राईवेट काॅलेजों की मनमानी नहीं चलेगी, चिकित्सा विश्वविद्यालय करेगा फीस की वसूली

मास्टर्स में जीता स्वर्ण


आपको बता दें कि स्टेट चैंपियन का खिताब जीतने के बाद शहैदा ने इसी साल मार्च के महीने में जम्मू में हुए प्रतियोगिता के मास्टर्स वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद 8 और 9 जुलाई को काशीपुर, सुल्तानपुर पट्टी में हुई स्टेट चैंपियनशिप में 93 किग्रा भार वर्ग में उन्होंने मास्टर, सीनियर और बेंच प्रेस चैंपियनशिप टाइटल में भी गोल्ड मेडल जीता।

ओवरआॅल चैम्पियन

उनके शानदार प्रदर्शन के दम पर देहरादून की टीम ने ओवरऑल चैंपियनशिप भी अपने नाम की। उन्होंने बताया कि पहले शौकिया तौर पर खेलने की शुरूआत की। उनके कोच राज मिडास और परिवार ने उन्हें लगातार प्रोत्साहित किया, जिससे वह बेहद उत्साहित हैं।

 

Todays Beets: