Tuesday, February 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

इंजीनियरिंग काॅलेज की स्थापना दिवस पर बाल-बाल बचे मुख्यमंत्री, ड्रोन चेहरे के पास पहुंचा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इंजीनियरिंग काॅलेज की स्थापना दिवस पर बाल-बाल बचे मुख्यमंत्री, ड्रोन चेहरे के पास पहुंचा

हरिद्वार। उत्तराखंड के इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ड्रोन की चपेट में आने से बाल-बाल बच गए। बता दें कि स्थापना दिवस के मौके पर छात्र मुख्यमंत्री के सामने ड्रोन उड़ाने का प्रदर्शन कर रहे थे। उसी वक्त रिमोट पर नियंत्रण नहीं रहने के कारण सीएम तक जा पहुंचा। सीएम ने खुद को बचाते हुए चेहरा पीछा किया और सुरक्षा में तैनात स्थानीय अभिसूचना इकाई के दारोगा ने ड्रोन दूसरी तरफ धकेला। बता दें कि मुख्यमंत्री को बचाने के क्रम में दारोगा घायल हो गए।

चेहरे के करीब पहुंचा ड्रोन

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत रविवार को कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के स्थापना दिवस कार्यक्रम में शामिल होने हरिद्वार पहुंचे थे। इसी दौरान इंजीनियरिंग छात्रों की एक टीम ने सीएम के सामने ड्रोन उड़ाने का प्रदर्शन कर रहे थे, अचानक छात्र का नियंत्रण रिमोट पर गड़बड़ा गया और ड्रोन तेजी के साथ उड़ता हुआ मंच की तरफ जा पहुंचा। ड्रोन बिल्कुल मुख्यमंत्री के चेहरे के करीब जा पहुंचा। ड्रोन पर पहले से नजरें होने के कारण मुख्यमंत्री ने तुरंत अपना चेहरा पीछे किया। उनकी सुरक्षा में तैनात दारोगा शीशपाल रौथाण भी फौरन हरकत में आकर हाथ से दूसरी तरफ धकेला। 

ये भी पढ़ें - विशिष्ट बीटीसी शिक्षक का मुद्दा और गरमाया, गैरसैंण विधानसभा के घेराव के लिए लेंगे सामूहिक अवकाश


चिकित्सकों ने की मरहम पट्टी

आपको बता दें कि ड्रोन को अपने हाथों से पीछे धकलने में घायल हो गए और उनके हाथ से खून बहने लगा। सीएम के काफिले में मौजूद चिकित्सकों की टीम ने दारोगा की मरहम पट्टी की है। 

Todays Beets: